Zee Rozgar Samachar

Mercury Planet: इस हफ्ते नंगी आंखों से देख सकेंगे बुध ग्रह! जानिए कब, कहां और कैसे दिखेगा ये अद्भुत नजारा

बुध ग्रह अपनी कक्षा में सूरज से दूर जाता है तो इसे ग्रेटेस्ट इलॉन्गेशन (Greatest Eastern Elongation) कहते हैं. ये दो तरफ होता है यानी पूर्व दिशा की तरफ और पश्चिम दिशा की तरफ. इस बार ये पूर्व दिशा यानी ग्रेटेस्ट ईस्टर्न इलॉन्गेशन (Greatest Eastern Elongation) है. इसलिए ये हमें शाम को सूरज  ढलने के 30 मिनट बाद पश्चिम दिशा में दिखाई देगा. 

Mercury Planet: इस हफ्ते नंगी आंखों से देख सकेंगे बुध ग्रह! जानिए कब, कहां और कैसे दिखेगा ये अद्भुत नजारा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: क्या कभी आपने अपनी नंगी आंखों से सबसे छोटे ग्रह बुध (Greatest Eastern Elongation) को देखा है. इस ग्रह को धरती से देखना आसान नहीं है लेकिन इस हफ्ते आप इसे लगातार 4 रातों तक अपनी खुली आंखों (See Mercury Planet Through Naked Eyes) से देख सकते हैं. इसे देखने के लिए आपको मशक्क्त नहीं करनी पड़ेगी, क्योंकि बुध ग्रह आपको नंगी आंखों से दिखाई देगा. अगर, आपके पास दूरबीन है तो ये नजारा आपके लिए और भी खूबसूरत हो जाएगा. आइए जानते हैं कि आप इस अद्भुत नजारे को कब, कहां और कैसे अपनी नंगी आंखों से देख सकते हैं.

सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह 'बुध'

बुध ग्रह (Smallest Planet In The Solar System) सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह है जो (Mercury) सूरज का एक चक्कर 88 दिन में पूरा कर लेता है.ये सूरज के सबसे ज्यादा नजदीक है. इसलिए आमतौर पर जब धरती पर दिन होता है तब ये आसमान में होता है लेकिन सूरज की रोशनी के आगे हम इसे देख नहीं पाते हैं. ये सिर्फ तभी दिखता है जब ये अपनी कक्षा में सूरज से बहुत दूर होता है. यानी आप इसे सूरज उगने से ठीक पहले या सूरज के डूबने के ठीक बाद देख सकते हैं.

इस हफ्ते दिखेगा बुध ग्रह 

इस हफ्ते आपको यह दुर्भ नजारा दिखने वाला है. यानी 23 जनवरी से 26 जनवरी की रात तक आप इसे देख सकेंगे। इस हफ्ते बुध ग्रह सूरज से दूर जाएगा और हमें नंगी आंखों से दिखाई भी देगा. इसे ग्रेटेस्ट ईस्टर्न इलॉन्गेशन (Greatest Eastern Elongation) कहते हैं. लेकिन इसे देखने के लिए आपको यह जानना जरूरी है कि ये किस दिशा में दिखाई देगा

ये भी पढ़ें

इस दिशा में दिखेगा ये नजारा 

23 जनवरी यानी शनिवार शाम को बुध ग्रह (See Mercury Planet Through Naked Eyes) आसमान में पश्चिमी दिशा में करीब 15 डिग्री के कोण पर दिखाई देगा. लेकिन ये कोण आपकी लोकेशन के आधार बदल भी सकता है. ये शाम को सूरज के ढलने के ठीक 30 मिनट बाद पश्चिम दिशा की तरफ दिखाई देगा. अगर आप ये नजारा देखना चाहते हैं तो आपको थोड़ा अलर्ट रहने की जरूरत है. क्योंकि थोड़ी ही देर में ये आसमान की ऊंचाइयों में गायब हो जाएगा.

इस दिशा में नजर डालिए 

अगर आप इस नजारे को शाम को मिस कर देते हैं या फिर दोबारा देखना चाहते हैं तो उत्तर दिशा की तरफ आसमान के अंत में नजर डालिए, आपको यह वहां पर दिखाई देगा. लेकिन इसके लिए आसमान का साफ होना बेहद जरूरी है. अगर आकाश में धुंध या कोहरा रहा तो आप इस नजारे को नहीं देख सकेंगे.

क्या है ग्रेटेस्ट ईस्टर्न इलॉन्गेशन (What is the greatest eastern allocation)

बुध ग्रह अपनी कक्षा में सूरज से दूर जाता है तो इसे ग्रेटेस्ट इलॉन्गेशन (Greatest Eastern Elongation) कहते हैं. ये दो तरफ होता है यानी पूर्व दिशा की तरफ और पश्चिम दिशा की तरफ. इस बार ये पूर्व दिशा यानी ग्रेटेस्ट ईस्टर्न इलॉन्गेशन (Greatest Eastern Elongation) है. इसलिए ये हमें शाम को सूरज  ढलने के 30 मिनट बाद पश्चिम दिशा में दिखाई देगा. जब वेस्टरन इलॉन्गेशन होता है तब ये सूरज उगने से 30 मिनट पहले पूर्व दिशा में दिखाई देता है.

ये भी पढ़ें- NASA ने जारी की बृहस्पति ग्रह की हैरान कर देने वाली तस्वीरें! देखिए उत्तरी और दक्षिणी अरुणोदय का अद्भुत नजारा

इस साल चार बार दिखेगा ये नजारा (view will be seen four times this year) 

इस नजारे को आप सनसेट होने के बाद सूरज के दाहिने तरफ 18.6 डिग्री के कोण पर आसमान में चमकता हुआ देख सकते हैं. अगर किसी कारणवश आप ये मौका गंवा देते हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है. इस साल बुध ग्रह धरती से चार बार नंगी आंखों से दिखाई देगा. 5 मार्च सूरज उगने से ठीक पहले, 9 और 10 मार्च को सूरज उगने से पहले दक्षिण-पूर्वी आसमान की तरफ, 13 मई से 29 मई तक सूरज ढलने के बाद और 4 दिसंबर को सूरज उगने के बाद लेकिन सिर्फ अंटार्कटिका में दिखाई देगा. इसलिए ये पूरे साल आपको इस अद्भुत दीदार का मौका कई बार मिलने वाला है. 

विज्ञान से जुड़े अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.