close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय टेनिस एसोसिएशन को पाकिस्तान से खेलने से ऐतराज नहीं, डेविस कप के लिए दौरा करेगी टीम

भारतीय टीम ने आखिरी बार 1964 में डेविस कप मुकाबले के लिए पाकिस्तान का दौरा किया था. तब उसने 4-0 से मुकाबला जीता था. 

भारतीय टेनिस एसोसिएशन को पाकिस्तान से खेलने से ऐतराज नहीं, डेविस कप के लिए दौरा करेगी टीम
डेविस कप के कोच जीशान अली, कप्तान महेश भूपति और युकी भांबरी के साथ प्रैक्टिस सेशन के दौरान. (फाइल फोटो)

कोलकाता: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack) के बाद भारत में सबसे अधिक चर्चा पाकिस्तान का बायकॉट करने की है. खासकर, क्रिकेट बिरादरी में यह चर्चा गरम है कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से मैच खेलें या नहीं. लेकिन टेनिस जगत में ऐसी कोई बहस नहीं हो रही है. भारतीय टेनिस टीम को डेविस कप के मुकाबले के लिए पाकिस्तान का दौरा करना है. अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) ने साफ कर दिया है कि भारत डेविस कप के लिए पाकिस्तान का दौरा करेगा. 

एआईटीए (AITA) ने कहा कि भारतीय टीम डेविस कप के लिए पाकिस्तान का दौरा करेगी और उसने मैच का स्थान बदलने का अनुरोध नहीं किया है. ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद भारत सितंबर में पाकिस्तान में होने वाले डेविस कप मुकाबले को खेलने से मना कर सकता है. 

यह भी पढ़ें: युद्ध हो या वर्ल्ड कप; भारत ने हर बार पाकिस्तान के छक्के छुड़ाए हैं, जानें हर मैच की कहानी

एआईटीए के महासचिव हिरोनमोय चटर्जी ने कहा, ‘हमने स्थान को बदलने का अनुरोध नहीं किया है. बाहर मौजूद ऐसी रिपोर्ट निराधार हैं.’ चटर्जी ने कहा, ‘मुकाबला अभी भी बहुत दूर है. हम सितंबर में वहां खेलेंगे और फरवरी में ही उस समय की स्थिति (राजनीतिक) का अनुमान नहीं लगाया जा सकता. हम इस मुद्दे पर अभी चर्चा नहीं करेंगे. मुकाबले पर किसी प्रकार का संदेह नहीं है.’

AITA IANS

पाकिस्तान टेनिस महासंघ (पीटीएफ) ने इस महीने की शुरुआत में घोषणा की थी कि वे इस्लामाबाद के ग्रास कोर्ट पर भारत की मेजबानी करने के लिए तैयार हैं. एआईटीए ने पहले कहा था कि वे मुकाबला खेलने के लिए पाकिस्तान का दौरा करने के लिए तैयार हैं, अन्यथा वे अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ के नियमों के अनुसार अयोग्य हो जाएंगे. बता दें कि डेविस कप में मार्च 1964 के बाद से किसी भी भारतीय टीम ने पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है. वह मैच लाहौर में हुआ था और भारत ने 4-0 से जीत हासिल की थी. 

बता दें कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के सीओए (COA) ने इस संबंध में आईसीसी को ईमेल भेजा है. सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा, ‘16 जून की तारीख अभी बहुत दूर है. हम बाद में इस पर सरकार की सलाह के बाद फैसला करेंगे.’ सौरव गांगुली और हरभजन सिंह समेत कई क्रिकेटर पाकिस्तान का विश्व कप में बायकॉट करने करने की मांग की है. वहीं, सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर ने कहा कि पाकिस्तान को वर्ल्ड कप में हराना चाहिए. हालांकि, इन दोनों ने यह भी कहा कि इस मसले पर सरकार जो भी फैसला लेगी, वे उसके साथ हैं. 

(आईएएनएस)