Pulwama Terror Attack: पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेला जाए या नहीं, फैसला आज

पुलवामा में 14 फरवरी को आंतकी हमले में 40 से ज्यादा सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने के बाद कई पूर्व और मौजूदा खिलाड़ियों ने इस हमले की निंदा की है.

Pulwama Terror Attack: पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेला जाए या नहीं, फैसला आज
बीसीसीआई इस मुद्दे को 27 फरवरी से दो मार्च के बीच होने वाली आईसीसी की बैठक में भी उठा सकती है. (फोटो साभार: DNA)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का कामकाज देख रही दो सदस्यीय प्रशासकों की समिति (सीओए) शुक्रवार को यहां बैठक करेगी, जिसमें वह इसी साल इंग्लैंड में होने वाले वनडे विश्व कप में पाकिस्तान के साथ खेलने या नहीं खेलने पर चर्चा कर सकती है. पुलवामा में 14 फरवरी को आंतकी हमले में 40 से ज्यादा सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने के बाद कई पूर्व और मौजूदा खिलाड़ियों ने इस हमले की निंदा की है लेकिन साथ ही कहा है कि अगर भारत विश्व कप में पाकिस्तान के साथ नहीं खेलता है तो भारत को अंकों का नुकसान होगा.

रिपोटर्स के मुताबिक, सीओए ने बुधवार को बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी से कहा कि वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को पत्र लिखकर पाकिस्तान को विश्व कप से प्रतिबंधित करने की बात कहें. अगर भारत ऐसा करता है तो यह उसके लिए नुकसानदायक कदम हो सकता है क्योंकि हो सकता है कि बाकी देश पाकिस्तान का बहिष्कार करने में भारत का समर्थन न करें.

PAK से न खेलने की बजाए हम उसे मैच में हराकर वर्ल्ड कप में रोक सकते हैं: गावस्कर
अगर बीसीसीआई आईसीसी को इस तरह का पत्र लिखती भी है तो उसे अप्रैल में होने वाली बोर्ड की वार्षिक आम बैठक में सर्वसहमति हासिल करनी होगी. भारत को आईसीसी में बहुमत हासिल नहीं है, ऐसे में उसका यह मुद्दा उठाना भारत के 2021 में होने वाली चैम्पियंस ट्रॉफी और 2023 में होने वाले विश्व कप की मेजबानी पर खतरा पैदा कर सकती है.

वर्ल्डकप 2019 में पाकिस्तान को बैन करवाने की तैयारी, आईसीसी पर दबाव डालेगा BCCI
सीओए के अध्यक्ष विनोद राय और डायना इडुल्जी के बीच शुक्रवार को होने वाली इस बैठक को पहले एक रुटीन बैठक के तौर पर देखा जा रहा था, जिसमें आम मुद्दों पर चर्चा होनी थी लेकिन पुलवामा में हुए आंतकी हमले के बाद से देश में बने माहौल को देखते हुए पाकिस्तान के मुद्दे पर भी चर्चा हो सकती है.

बीसीसीआई इस मुद्दे को 27 फरवरी से दो मार्च के बीच होने वाली आईसीसी की बैठक में भी उठा सकती है.

(इनपुट-आईएएनएस)