close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsNZ: नेपियर में टीम इंडिया ने रचा इतिहास, ये रहे जीत के 5 हीरो

नेपियर में मोहम्मद शमी और कुलदीप यादव की लाजवाब गेंदबाजी और शिखर धवन की बेहतरीन पारी के कारण टीम इंडिया ने सीरीज के पहले मैच में शानदार जीत हासिल की. 

INDvsNZ: नेपियर में टीम इंडिया ने रचा इतिहास, ये रहे जीत के 5 हीरो
टीम इंडिया की जीत में शमी, कुलदीप, चहल, धवन और कोहली का अहम योगदान रहा. (फाइल फोटो)

नेपियर: भारत और न्यूजीलैंड के बीच पांच वनडे मैचों की सीरीज का पहला मैच जीतकर टीम इंडिया ने शानदार आगाज किया. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम कप्तान केन विलियमसन (64) की हाफ सेंचुरी के दम पर केवल 38 ओवर में सभी विकेट गंवाकर 157 रनों का स्कोर खड़ा कर सकी. इस पारी में टीम इंडिया ने शुरुआत से ही न्यूजीलैंड पर दबाव बनाए रखा. 157 रनों के जवाब में बीच में खेल रुकने के कारण मिले टीम को संशोधित 156 रनों का लक्ष्य (49 ओवर) को 34.5 ओवरों में ही हासिल कर लिया और न्यूजीलैंड पर ऐतिहासिक जीत दर्ज कर ली. टीम इंडिया के लिए शिखर धवन ने बेहतरीन 75 रनों की नाबाद पारी खेली. 

इस मैच में टीम इंडिया के लिए पहले मोहम्मद शमी, फिर युजवेंद्र चहल और आखिरी में कुलदीप यादव ने शानदार गेंदबाजी की और न्यूजीलैंड को पूरी पारी में लगातार बैकफुट पर रखा. भारत के लिए इस पारी में कुलदीप यादव ने सबसे अधिक चार विकेट लिए, वहीं मोहम्मद शमी को तीन सफलताएं मिली. युजवेंद्र चहल ने दो और केदार जाधव ने एक विकेट हासिल किया. वहीं बल्लेबाजी में शिखर धवन ने शानदार हाफ सेंचुरी लगाई. इस मैच में भारत के पांच खिलाड़ी हीरो बनकर उभरे. 

यह भी पढ़ें: INDvsNZ: भारत की न्यूजीलैंड में सबसे बड़ी जीत, नेपियर वनडे 8 विकेट से जीता

1. मोहम्मद शमी ने दिलाई शानदार शुरुआत
शमी ने  एक बार फिर नेपियर में एक बार फिर शानदार गेंदबाजी की. इस बार अपने पहले ही ओवर में उन्होंने न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल को बोल्ड अपना सौवां वनडे शिकार बनाया. इसके बाद अपने दूसरे ओवर में ही कोलिन मुनरो को शमी ने बोल्ड कर टीम इंडिया को दूसरी सफलता दिलाई और मेजबान टीम को जो बैकफुट पर धकेला तो उसके बाद टीम वापसी नहीं सकी. इसके बाद 30वें ओवर में शमी ने मिचेल सेंटनर को भी विकेट लेकर न्यूजीलैंड के विकेट गिरने का सिलसिला जारी रखने में मदद की. 

2. कुलदीप यादव की बेहतरीन फिनिशिंग
कुलदीप यादव ने इस मैच में न्यूजीलैंड की पारी केवल 38 ओवर तक ही समेटने में खास भूमिका निभाई.  कुलदीप यादव ने सबसे पहले कप्तान केन विलियमसन को चलता कर पहले से ही संकट में चल रही न्यूजीलैंड टीम की कमर ही तोड़कर रख दी. विलियमस ने 34वें ओवर में 146 के स्कोर पर टीम के सातवें विकेट के रूप में आउट हुए. इसके बाद कुलदीप ने अगले चार ओवरों में डग ब्रेसवेल, लॉकी फर्ग्युसन और ट्रेंट बोल्ट का विकेट लेकर न्यूजीलैंड को 40 ओवर से पहले ही आउट करवा दिया. कुलदीप ने अपने 10 ओवरों में 39 रन देकर 4 विकेट लिए. 

 

3. युजवेंद्र चहल ने नहीं करने दी मेजबानों को वापसी
इस मैच में जब युजवेंद्र चहल 11वें ओवर में गेंदबाजी करने आए तब न्यूजीलैंड का स्कोर 2 विकेट के नुकसान पर 34 रन था. कप्तान केन विलियमसन जो स्पिन को बढ़िया खेलते हैं, रॉस टेलर के साथ शायद अपनी पारी को मजबूत करने के लिए स्पिन का इंतजार कर रहे थे. पहले दो ओवर में चहल ने टाइट गेंदबाजी की और केवल 7 रन दिए. चहल को सफलता उनके तीसरे ओवर में मिली जब लय में आ रहे रॉस टेलर को अपनी ही गेंद पर लपक लिया. इसके बाद 19वें ओवर में चहल ने एक बार फिर न्यूजीलैंड को उबरने का मौका न देते हुए टॉम लाथम को अपनी ही गेंद पर कैच कर लिया. चहल ने 10 ओवर में 43 रन देकर दो विकेट लिए. 

4. शिखर धवन की शानदार पारी
शिखर धवन ने इस मैच में न केवल टीम इंडिया को बढ़िया शुरुआत दी बल्कि सेंसिटिव खेलकर रन हाफ सेंचुरी भी बनाई और टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका भी निभाई. पहले धवन ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर 41 रनों की साझेदारी की, उसके बाद कप्तान विराट कोहली के साथ 91 रनों की पार्टरनशिप कर टीम को जीत के करीब पहुंचा दिया. धवन ने पहले 71 गेंदों में अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की. 

5. विराट कोहली की कप्तानी पारी
इस जीत में टीम इंडिया की कप्तान विराट कोहली भले ही अपनी हाफ सेंचुरी पूरी न कर सके हों, लेकिन उनकी पारी ने न्यूजीलैंड की उम्मीदों को ध्वस्त करने में पूरी भूमिका निभाई. 10वें ओवर में रोहित शर्मा के विकेट गिरने के बाद न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के लगा कि वे इस मैच को लो स्कोरिंग में बदल सकते हैं. लेकिन विराट ने धवन के साथ मिलकर न्यूजीलैंड के इस इरादे को सपना ही रहने दिया और आउट होने से पहले टीम को जीत के करीब ही पहुंचा दिया. इसके बाद शिखर धवन और अंबाती रायडू ने मिलकर टीम को मिला संशोधित लक्ष्य 156 रन पूरा कर लिया.