INDvsNZ: बैन हटने के बाद तीसरे वनडे में उतर सकते हैं हार्दिक पांड्या

INDvsNZ: बैन हटने के बाद तीसरे वनडे में उतर सकते हैं हार्दिक पांड्या

बैन हटने के बाद हार्दिक पांड्या न्यूजीलैंड में टीम इंडिया से जुड़ने जा रहे हैं. 

INDvsNZ: बैन हटने के बाद तीसरे वनडे में उतर सकते हैं हार्दिक पांड्या

नई दिल्ली: हार्दिक पांड्या और केएल राहुल पर से निलंबन हटने के बाद अब हार्दिक का न्यूजीलैंड दौरे में खेलने का रास्ता साफ हो गया है. हार्दिक जल्द ही न्यूजीलैंड में टीम इंडिया से जु़ड़ रहे हैं. पूरी संभावना है कि वे माउंड मोउनगुई में होने वाले वनडे सीरीज के तीसरे मैच की प्लेइंग इलेवन में भी शामिल कर लिए जाएं. यह टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के लिए एक राहत की खबर मानी जा रही है. वनडे सीरीज से पहले ही विराट ने एक बयान में कहा था कि वे हार्दिक को मिस कर रहे हैं.  

प्रशासकों की समिति (सीओए) ने  गुरुवार को ही  पांड्या और राहुल का निलंबन तुरंत प्रभाव से हटा दिया था. इन दोनों को एक टीवी कार्यक्रम के दौरान आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के कारण निलंबित किया गया था और उन्हें आस्ट्रेलिया दौरे के बीच से स्वदेश बुला लिया गया था. प्रतिबंध हटाने के बाद बीसीसीआई ने कहा था कि पांड्या अब जल्द से जल्द न्यूजीलैंड दौरे पर गयई टीम से जुड़ सकते हैं जबकि राहुल घरेलू क्रिकेट या भारत ए की तरफ से इंग्लैंड लायन्स के खिलाफ खेल सकते हैं.

Hardik to return in Team India

बीसीसीआई द्वारा जारी सीओए के बयान में कहा गया, ‘‘उपरोक्त फैसला न्यायमित्र पी एस नरसिम्हा की सहमति से लिया गया है. इसे देखते हुए 11 जनवरी के निलंबन आदेशों को लोकपाल की नियुक्ति और उनके द्वारा फैसला लिये जाने तक तुरंत प्रभाव से हटा दिया गया है.’’ इस मामले में हालांकि जांच होगी जिसके लिये उच्चतम न्यायालय को लोकपाल नियुक्त करना है. शीर्ष अदालत ने इस मामले को पांच फरवरी को अस्थायी रूप से सूचीबद्ध किया है.  पांड्या और राहुल ने ‘काफी विद करण’ कार्यक्रम के दौरान कई महिलाओं के साथ संबंध बनाने की बात की थी जिसके लिये उनकी कड़ी आलोचना हुई थी. 

यह भी पढ़ें: कोहली को खल रही पंड्या की कमी, बोले - हार्दिक के बिना इसके लिए मजबूर होना पड़ता है

सीओए ने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों को निलंबित करने का फैसला ‘‘बीसीसीआई के संविधान के नियम 46 के तहत लिया गया जो कि खिलाड़ियों के व्यवहार से संबंधित है. ’’ खिलाड़ियों पर से निलंबन हटाने के लिये बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी के खन्ना ने पहल की थी. उनका मानना था कि जांच लंबित रहने तक निलंबन हटाया जाना चाहिए. खन्ना ने असल में बीसीसीआई की विशेष आम बैठक (एसजीएम) बुलाने से इन्कार कर दिया था जिसकी 14 मान्यता प्राप्त इकाइयों ने मांग की थी. 

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली ने भी कहा था कि यह आगे बढ़ने का समय है क्योंकि दोनों ने अपनी गलतियों से सबक लिया होगा. यह विवादास्पद साक्षात्कार करने वाले करण जौहर ने भी इन दोनों का निलंबन हटाने का आग्रह किया था.

(इनपुट भाषा)

Trending news