• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

IPL-12: पोलार्ड ने राहुल के शतक पर फेरा पानी, अल्जारी ने मुंबई को आखिरी गेंद पर दिलाई जीत

पंजाब ने मुंबई को 198 रन का लक्ष्य दिया था. कीरोन पोलार्ड की कप्तानी में उतरी मुंबई की टीम ने सात विकेट खोकर हासिल कर लिया. 

IPL-12: पोलार्ड ने राहुल के शतक पर फेरा पानी, अल्जारी ने मुंबई को आखिरी गेंद पर दिलाई जीत
केएल राहुल (दाएं) और क्रिस गेल ने पंजाब के लिए 116 रन की ओपनिंग साझेदारी की. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: तीन बार की चैंपियन मुंबई ने इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) में बुधवार (10 अप्रैल) को पंजाब को तीन विकेट से हरा दिया. मेजबान मुंबई (Indians) ने इस मैच में टॉस जीतकर पंजाब को पहले बैटिंग करने के लिए कहा. पंजाब ने निर्धारित 20 ओवर में चार विकेट पर 197 रन बनाए. उसकी ओर से ओपनर केएल राहुल ने 100 रन की बेहतरीन पारी खेली. लेकिन उनका शतक पंजाब के काम नहीं आया. मुंबई के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने 83 रन बनाकर अपनी टीम को जीत के करीब पहुंचाया. इसके बाद उनके ही देश के अल्जारी जोसेफ ने मुंबई को जीत दिला दी. 

मुंबई की टीम इस मैच में नियमित कप्तान रोहित शर्मा के बिना उतरी. उनके पैरों की मांसपेशियों में खिंचाव था. उनकी जगह कीरोन पोलार्ड ने मुंबई की कप्तानी की. यह आईपीएल-12 में मुंबई और पंजाब की टीमों का आपस में दूसरा मुकाबला है. इससे पहले दोनों टीमों के बीच 30 मार्च को मोहाली में मुकाबला हुआ था. वह मैच पंजाब की टीम ने जीता था. उसने मुंबई को आठ विकेट से हराया था. आईपीएल-12 की बात करें तो मुंबई ने अब तक 6 मैच खेले हैं और उनमें से 4 में जीत दर्ज की है. पंजाब की टीम 7 मैच में से चार जीत चुकी है.  

मेजबान मुंबई और पंजाब के बीच बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में मैच खेला गया. ओपनर केएल राहुल और क्रिस गेल (63) ने पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी कर पंजाब को बेहतरीन शुरुआत दी. इन दोनों ने 12.5 ओवर में 116 रन जोड़े. इस स्कोर पर गेल आउट हो गए. लेकिन राहुल पारी के अंत तक डटे रहे. उन्होंने डेविड मिलर, करुण नायर, सैम करेन और मंदीप सिंह के साथ मिलकर अपनी टीम को 197 रन तक पहुंचाया. राहुल ने 100 रन बनाने के लिए 64 गेंदें खेलीं. उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और छह छक्के जमाए. 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की शुरुआत धीमी रही. एक समय उसने 10 ओवर में तीन विकेट पर 65 रन बनाए थे. उस वक्त उसे जीत के लिए अंतिम 10 ओवर में 133 रन बनाने थे. यह लक्ष्य असंभव सा दिख रहा था. लेकिन टीम की कमान संभाल रहे पोलार्ड जब क्रीज पर हों तो सब संभव होता है. वही हुआ भी. उन्होंने 31 गेंदों पर 10 छक्कों की मदद से 83 रन की बेशकीमती पारी खेली और मैच अपने नाम कर लिया. पोलार्ड को उनकी तूफानी पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

मुंबई को आखिरी ओवर में जीत के लिए 15 रन चाहिए थे. पोलार्ड ने अंकित राजपूत की पहली गेंद (नो बॉल) पर छक्का और अगली गेंद पर चौका लगाया. इसके बाद वे दूसरी गेंद पर आउट हो गए, अब जिम्मा अल्जारी जोसेफ (15) और राहुल चाहर (1) पर था, जिन्होंने इसे बखूबी निभाया. आखिरी गेंद पर जीत के लिए दो रन की जरूरत थी. अल्जारी जोसेफ ने आखिरी गेंद, जो लो फुलटॉस थी, उसे गेंदबाज की बगल से लॉन्गऑन में खेला और जरूरी रन दौड़ लिए. इस तरह यह रोमांचक मैच मुंबई के नाम रहा. 

पंजाब की टीम इस मैच में दो बदलाव के साथ उतरी. मयंक अग्रवाल की उंगली में चोट है. उनकी जगह करुण नायर शामिल किए गए. इसी तरह अफगान स्पिनर मुजीब उर रहमान को बाहर हारडस विलियन को प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई. मुंबई ने अपने चोटिल कप्तान रोहित की जगह सिद्धेश लाड को शामिल किया.