पाकिस्तानियों को रास नहीं आ रही IPL से दूरी, बैन के बावजूद ढूंढ़ रहे हैं देखने के विकल्प

IPL 2019: पाकिस्तान सरकार ने अपने देश में टीवी पर भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण पर रोक लगा रखी है. 

पाकिस्तानियों को रास नहीं आ रही IPL से दूरी, बैन के बावजूद ढूंढ़ रहे हैं देखने के विकल्प
विजेता टीम को आईपीएल की यह ट्रॉफी दी जाएगी. (फाइल फोटो)

कराची: भारत ने पुलवामा आतंकी हमले के बाद भले ही पाकिस्तान पर तमाम तरह के बैन लगा दिए हों, लेकिन वहां के क्रिकेटप्रेमियों का आईपीएल (Indian Premier League) से लगाव अब भी कम नहीं हुआ है. भारत के कड़े निर्णयों के बाद पाकिस्तान ने जवाब में कुछ कदम उठाए हैं. इसके तहत उसने पाकिस्तान सरकार ने आईपीएल के प्रसारण पर रोक लगा रखा है. इसके बावजूद पाकिस्तानी क्रिकेटप्रेमी इस टी20 लीग ( IPL) के मैचों को देखने के विकल्प सोशल मीडिया पर तलाश रहे हैं. 

पाकिस्तानी खिलाड़ियों को 2008 में पहले सत्र के बाद से आईपीएल खेलने नहीं बुलाया गया है. इसके बावजूद यहां यह लीग काफी लोकप्रिय है. इस लीग का 12वां संस्करण (IPL 2019) शनिवार (23 मार्च) को शुरू हुआ. पहला मुकाबला तीन बार की चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स और पहले खिताब की तलाश में उतरे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के बीच हुआ. चेन्नई टीम के कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) और बेंगलुरू के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) हैं. 

पिछले महीने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था. इसमें सीआरपीएफ के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद दोनों देशों के बीच आए राजनयिक तनाव के कारण भारत ने पाकिस्तान से एमएफएन का दर्जा छीन लिया था.  भारतीय कंपनियों ने भी पाकिस्तान में होने वाली पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) का प्रसारण भारत में बैन कर दिया था. पाकिस्तान सरकार ने भी देश में भारतीय कार्यक्रमों के प्रसारण और सिनेमाघरों में भारतीय फिल्मों के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है. 

(भाषा)