close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आमिर के संन्यास से पाकिस्तान क्रिकेट जगत हैरान, अकरम, अख्तर, रमीज ने जताई निराशा

आमिर के टेस्ट से संन्यास लेने से अख्तर और अकरम ने निराशा व्यक्त की है.

आमिर के संन्यास से पाकिस्तान क्रिकेट जगत हैरान, अकरम, अख्तर, रमीज ने जताई निराशा
मोहम्मद आमिर ने हाल ही में विश्व कप में शानदार गेंदबाजी की थी. (फोटो:Reuters)

मुम्बई: पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्म्द आमिर (Mohammad Amir) ने 27 साल की उम्र में ही टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेकर चौंका दिया है. आमिर इस समय अपने करियर के सर्वश्रेष्ठ दौर में चल रहे हैं. उन्होंने इसी साल जून में ही इंग्लैंड और आयरलैंड के खिलाफ बढ़िया प्रदर्शन किया था. उसके बाद उन्होंने विश्व कप में भी शानदार प्रदर्शन किया था. स्पॉट फिक्सिंग में 5 साल का प्रतिबंध झेलने के बाद आमिर ने बढ़िया वापसी की. उनके इस फैसले से पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम और शोएब अख्तर ने निराशा व्यक्त की है.

क्या बताई थी संन्यास की वजह
आमिर ने शुक्रवार को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी. उन्होंने कहा था कि वह सीमित ओवरों के क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं. आमिर ने पाकिस्तान के लिए केवल 36 टेस्ट खेले हैं आमिर ने 2009 में अपना पहला टेस्ट मैच 17 साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ खेला था. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में कुल 119 विकेट लिए हैं. वए आखिरी बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच खेले थे. 2010 में मैच फिक्सिंग में शामिल होने के कारण उन पर पांच साल का प्रतिबंध लगा था, जिसके बाद उन्होंने 2016 में टेस्ट क्रिकेट में वापसी की.

यह भी पढ़ें: मोहम्मद आमिर का टेस्ट से संन्यास: कहीं इंग्लैंड की ओर से खेलने की तैयारी तो नहीं?

अकरम क्यों हुए हैरान
अकरम ने ट्वीट किया, "मेरे लिए मोहम्मद आमिर का टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना थोड़ा अचंभे में डालने वाला है क्योंकि 27-28 की उम्र में आप अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं और टेस्ट क्रिकेट में किए गए प्रदर्शन के आधार पर ही आपका आकलन किया जाता हे. यह सबसे बड़ा फॉर्मेट है." उनके मुताबिक पाकिस्तान को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाले दो टेस्ट मैच और इंग्लैंड में होने वाली सीरीज में आमिर की जरूरत पड़ेगी.

क्या बोले रमीज राजा
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा ने कहा, "आमिर का 27 की उम्र में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना निराशाजनक है. उनका यह निर्णय पाकिस्तान क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं है जो टेस्ट को क्रिकेट को बेहतर करने के बारे में सोच रहा है. यह समय खेलने का था पीछे हटने का नहीं."

अख्तर भी निराश
अख्तर ने भी आमिर के टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के फैसले पर निराशा व्यक्त की है. अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, "आमिर के संन्यास लेने से मैं पूरी तरह निराश हूं. इस उम्र में खिलाड़ी अपने करियर में रफतार पकड़ते हैं. आमिर के लिए यह समय दोबारा से पाकिस्तान के लिए खेलने का समय था. ऐसे में समय में जब पाकिस्तान टेस्ट में खराब प्रदर्शन से गुजर रहा है, आमिर की टीम को सखत जरूरत थी." 

अगर अख्तर पीसीबी में होते तो क्या करते?
उन्होंने कहा, "मैंने घुटनों के चोट के बावजूद इंग्लैंड और न्यूजीलैंड में पाकिस्तान को सीरीज जिताने में मदद की थी." पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, "अगर मैं पाकिस्तान के चयन बोर्ड का सदस्य होता तो मैं इन लड़कों को टी-20 खेलने की इजाजत नहीं देता. यह वह समय है जब आपको पैसे की जरूरत होती है, लेकिन यह वह समय भी जब पाकिस्तान को आपकी जरूरत है." अख्तर ने कहा, "मैं बोर्ड से इस मामले को देखने का अनुरोध करता हूं. आमिर अभी केवल 27 साल के हैं और उनका संन्यास लेना उनकी मासिकता को दशार्ता है. मुझे लगता है कि यह वह समय है जब प्रधानमंत्री इमरान खान को इस मामले को देखना चाहिए."