close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मोहम्मद आमिर का टेस्ट से संन्यास: कहीं इंग्लैंड की ओर से खेलने की तैयारी तो नहीं?

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. अटकले हैं कि वे अब इंग्लैंड की ओर से खेलने की तैयारी कर रहे हैं. 

मोहम्मद आमिर का टेस्ट से संन्यास: कहीं इंग्लैंड की ओर से खेलने की तैयारी तो नहीं?
मोहम्मद आमिर का कहना है कि पाकिस्तान के लिए वनडे टी-20 खेलते रहेंगे. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने केवल 27 साल की उम्र में ही टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा कर सनसनी फैला दी है. उनका कहना है कि वे लिमिटेड ओवर क्रिकेट पर फोकस  करना चाहते हैं और इसलिए वह टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह रहे हैं. आमिर ने पाकिस्तान के लिए केवल 36 टेस्ट खेले हैं और उन्होंने उस उम्र में संन्यास लेने की घोषणा की है जिसमें आमतौर पर क्रिकेट ऐसा करते नहीं हैं. अटकलें हैं आमिर के इस फैसले के पीछे इरादा भविष्य में इंग्लैंड की ओर से क्रिकेट खेलने का है.  

क्या वह है इन अटकलों की
इस बात की कहीं से पुष्टि तो नहीं हो रही है, लेकिन बताया जा रहा है कि कुछ ऐसी बातें हैं जो इन अटकलों को मजबूती दे रही हैं. आमिर ने 2016 में ब्रिटेन की नागिरिक नर्गिस मलिक से शादी की थी. बताया जा रहा है कि आमिर ने पहले से से ‘स्पाउज वीजा’ के लिए आवेदन दे रखा है. यह वीजा उन्हें इंग्लैंड में तीस महीने रहने की इजाजत देगा. इसके मिलने पर आमिर इंग्लैंड में काम करने के अलावा कुछ और सुविधाएं भी हासिल कर सकेंगे. इसके अलावामीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक, आमिर इंग्लैंड में एक घर खरीदने की योजना भी बना रहे हैं.  घर मिलने पर उन्हें ब्रिटेन का पासपोर्ट आसानी से मिल जाएगा जिसके बाद उन्हें इंग्लैंड टीम की ओर से खेलने में ज्यादा परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

कितनी सच्चाई है इन अटकलों में
पहली बात तो यह है कि मोहम्मद आमिर ने केवल टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया है. वनडे और टी-20 क्रिकेट से नहीं.  वैसे तो स्पॉट फिक्सिंग विवाद में वे पांच साल का प्रतिबंध और इंग्लैंड में कुछ समय जेल में भी बिता चुके हैं, लेकिन उसके बाद वे कई बार इंग्लैंड आ जा चुके हैं. आमिर ने रिटायरमेंट की भनक अपने साथी खिलाड़ियों की नहीं लगने दी. उनके कुछ साथियों का कहना है कि आमिर की अब पाकिस्तान के लिए क्रिकेट खेलने में कोई दिलचस्पी नहीं हैं. 

आमिर रिटायरमेंट पर कहा, "क्रिकेट के सबसे पारंपरिक प्रारूप में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने पर गर्व है. हालांकि, मैंने सीमित ओवर क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अब टेस्ट से सन्यास लेने का फैसला किया है." आमिर ने 17 वर्ष की उम्र में 2009 में श्रीलंका के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था. उन्होंने अबतक टेस्ट क्रिकेट में कुल 119 विकेट लिए हैं. वह आखिरी बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच खेले थे. मैच फिक्सिंग में शामिल होने के कारण 2010 में उनपर पांच साल का प्रतिबंध लगा था जिसके बाद उन्होंने 2016 में टेस्ट क्रिकेट में वापसी की.