VIDEO: भुवी ने लपका मैक्सवेल का अमेजिंग कैच, इस झटके से नहीं उबर पाए कंगारू

भुवनेश्वर कुमार ने मेलबर्न वनडे में ग्लेन मैक्सवेल का शानदार कैच पकड़कर ऑस्ट्रेलिया को तगड़ा झटका दिया.

VIDEO: भुवी ने लपका मैक्सवेल का अमेजिंग कैच, इस झटके से नहीं उबर पाए कंगारू
भुवनेश्वर कुमार ने फाइन लेग पर मैक्सवेल का शानदार कैच पकड़ा. (फाइल फोटो)

मेलबर्न: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज के तीसरे और आखिरी वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया की टीम को पहले बल्लेबाजी करते हुए काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा. मेजबान टीम को तीसरे ओवर में ही एलेक्स कैरी के रूप में पहला झटका लगा और उसके बाद 9वें ओवर में कप्तान एरोन फिंच भी केवल 14 रन बनाकर आउट हो गए. इसके बाद ख्वाजा और शॉन मार्श ने एक साझेदारी की. दोनों के अचानक आउट होने और फिर स्टोइनिस का विकेट गिरने के बाद ग्लेन मैक्सवेल 30वें ओवर में बल्लेबाजी करने आए. मैक्सवेल ने ऑस्ट्रेलिया के लिए तेजी से रन बनाना शुरु किए. तभी भुवनेश्वर कुमार ने एक शानदार कैच लपका और  टीम इंडिया के लिए खतरा बने ग्लेन मैक्सवेल को पवेलियन की राह दिखा दी. 

10 ओवर तक ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और टीम ने केवल 30 रन के स्कोर तक दो विकेट खो दिए. इसके बाद उस्मान ख्वाजा और शॉन मार्श ने धीरे धीरे पारी को आगे बढ़ाते हुए टीम का स्कोर 24वें ओवर में 100 किया तभी चहल ने इसी ओवर में दोनों को आउट कर दिया. लेकिन 30वें ओवर स्टोइनिस के आउट होने के बाद मैक्सवेल ने आते ही मौके देखकर चौके लगाना शुरू कर दिया और टीम इंडिया के सभी गेंदबाजों को धुनना शुरु कर दिया ऐसा लगने लगा था कि अब ऑस्ट्रेलिया मैच में वापसी कर एक बार फिर टीम इंडिया को बड़ा लक्ष्य देने में कामयाब हो जाएगी.

शमी की गेंद और भुवी का शानदार कैच
ऐसे ही समय में जब पारी का 35वां ओवर मोहम्मद शमी फेंक रहे थे, उन्होंने ऑस्ट्रेलिया को बड़ा झटका देते हुए ग्लेन मैक्सवेल को पवेलियन वापस भेज दिया. शमी की बाउंसर पर मैक्सवेल ने शॉट खेला लेकिन वह नियंत्रित नहीं था और गेंद फाइन लेग की ओर गई जहां भुवनेश्वर कुमार ने डाइव लगाते हुए शानदार कैच पकड़ा. मैक्सवेल टीम इंडिया के लिए खतरा बन रहे थे. उन्होंने 19 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 26 रन बना डाले थे. उस समय ऑस्ट्रेलिया के छह विकेट के नुकसान पर 161 रन बना लिए थे.

मैक्सवेल के आउट होने से ऑस्ट्रेलिया के बड़ा स्कोर करने की उम्मीदों को तगड़ा झटका लगा. मैक्सवेल के आउट होने के बाद पीटर हैंड्सकॉम्ब जरूर क्रीज पर थे लेकिन वे भी अपनी हाफ सेंचुरी लगाने के बाद आउट हो गए, लेकिन वे टीम के स्कोर में वह तेजी नहीं ला सके जो मैक्सवेल या स्टोइनिस ला सकते थे.