close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs AUS: दूसरे वनडे में मिली रोमांचक जीत पर बोले कोहली, 'हम विश्वकप में इसी तरह अंत तक लड़ेंगे'

भारत ने उतार-चढ़ाव से भरे दूसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया पर आठ रन की रोमांचक जीत दर्ज करके पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त बनाई. 

IND vs AUS: दूसरे वनडे में मिली रोमांचक जीत पर बोले कोहली, 'हम विश्वकप में इसी तरह अंत तक लड़ेंगे'
भारत की वनडे में यह 500वीं जीत है...

नागपुर: कप्तान विराट कोहली के लाजवाब शतक के बाद स्पिनरों ने बीच के ओवरों और तेज गेंदबाजों ने डेथ ओवरों में कमाल दिखाया जिससे भारत ने मंगलवार को उतार-चढ़ाव से भरे दूसरे वनडे में ऑस्ट्रेलिया पर आठ रन की रोमांचक जीत दर्ज करके पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त बनाई. भारत की वनडे में यह 500वीं जीत है. 

भारत की जीत की नींव कोहली ने रखी थी. उन्होंने 120 गेंदों पर 116 रन की लाजवाब पारी खेली जिसमें दस चौके शामिल हैं. इससे पता लगता है कि उन्होंने अपने अधिकतर रन दौड़कर लिये. कोहली को इस बीच केवल विजय शंकर (41 गेंदों पर 46) ही अच्छा सहयोग दे पाए. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिये 81 रन जोड़े. भारतीय टीम 48.2 ओवर में 250 रन बनाकर आउट हुई. जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 242 रन ही बना सकी. 

विराट कोहली को मैन ऑफ द मैच से नवाजा गया. जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा, " जब मैं बल्लेबाजी के लिए आया तो परिस्थितियां बिल्कुल मुश्किल थीं. मेरे पास धैर्य के साथ बल्लेबाजी करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था. पूरी पारी के दौरान बल्लेबाजी करने के चलते मैं पूरी तरह से थक गया हूं. विजय शंकर ने शानदार बल्लेबाजी कीए लेकिन वह दुर्भाग्वश वह रन आउट हो गया. हमने केदार जाधव और धोनी का विकेट भी जल्द गंवा दिया."  

कोहली ने आगे कहा, "मैं विजय का इस्तेमाल 46वें ओवर में करने की सोच रहा था. मैंने रोहित और धोनी से बात की लेकिन उन्होंने शमी और बुमराह पर भरोसा करने के लिए कहा. उनका कहना था कि अगर ये दोनों (बुमराह और शमी) एक-दो विकेट और निकाल लेते हैं तो हम मैच में और हावी हो जाएंगे और बिल्कुल यही हुआ."  

विजय की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, "विजय ने गेंद को स्टंप-टू-स्टंप रखा और यही फॉर्मूला काम कर गया. रोहित से बात करना हमेशा अच्छा रहता है. धोनी तो साथ में जुड़े ही हैं. हम गेंदबाजों से भी बात करते हैं. वे सब एक सा सोचते हैं. बुमराह चैंपियन है, एक ओवर में दो विकेट लिए और हमारी गेम में वापसी कराई. उसे अपनी टीम में पाकर खुश हूं." 

विश्वकप की रणनीति पर चर्चा करते हुए कहा, "हम अंत तक लड़ेंगे और  आज का मैच उसी का उदाहरण है." कोहली ने अंत में केदार जाधव की तारीफ करते हुए कहा, "इस तरह की पिच जाधव के लिए अनुकूल है. वह अंतिम ओवर भी फेंकना चाहता था."