Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

IPL 2019: RCB फैन गर्ल के बाद मुंबई की फैन छाई फाइनल में, फैंस ने पूछा- कुछ पता चला

आईपीएल के फाइनल में मुंबई-चेन्नई के बीच हुए रोमांच के बीच मुंबई की एक फैन गर्ल की भी खूब चर्चा रही जो सोशल मीडिया पर छाई रही. 

IPL 2019: RCB फैन गर्ल के बाद मुंबई की फैन छाई फाइनल में, फैंस ने पूछा- कुछ पता चला
(फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के फाइनल मुकाबले के रोमांच की सब जगह चर्चा है. आखिरी ओवर की आखिरी गेंद में मैच का फैसला एक रन ही हुआ. माना जा रहा है कि मैच चेन्नई भी जीत सकती थी लेकिन किस्मत रोहित शर्मा के साथ ज्यादा और एमएस धोनी के साथ कम रही. इस रोमांचक मैच के कई वाक्यों की भी चर्चा रही जिसमें धोनी के रन आउट, आखिरी ओवर का रोमांच, पोलार्ड की व्यवहार. लेकिन इनके अलावा दर्शक दीर्घा में मुंबई की एक फैन गर्ल ने लोगों का खूब ध्यान खींचा. 

फैंन को खूब भायी यह फैन
इस मैच में बहुत उतार चढ़ाव आए. कभी भी ऐसा नहीं लगा कि मैच किसी एक टीम के पक्ष में अभी नहीं गया है. कभी मैच चेन्नई तो कभी मुंबई की तरफ झुकता दिखाई दिया. इस बीच एक लड़की को कैमराक्रू का काफी अटेंशन मिला. इस वजह से इस टीवी पर दर्शकों ने बहुत बार देखा. इस फैन गर्ल को कुछ फैंस की तारीफ मिली वहीं कुछ फैंस ने कैमरामैन को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि इस कैमरामैन का मैन ऑफ द मैच मिलना चाहिए. 

कौन है यह लड़की, इसकी भी हुई पड़ताल
इस मैच में आखिरी ओवर में चेन्नई की बल्लेबाजी और मुंबई की गेंदबाजी की हमेशा ही बातें होती रहेंगी. शेन वॉटसन ने मैच में टीम को बनाए रखा, लेकिन जसप्रीत बुमराह ने हर बार मुंबई की वापसी कराई. लेकिन यह सिलसिला ऊपर नीचे होता ही रहा. वहीं टीवी पर बार नजर आने वाली इस लड़की के बारे में फैंस पड़ताल करने लगे. एक फैन ने यह सवाल भी उछाल दिया कि कुछ पता चला क्या

 

 

एक फैन ने तो इस लड़की को मुंबई टीम का लकी चार्म करार दिया. 

 

15 ओवर के बाद  शुरू हुआ रोमांच
आमतौर पर धोनी के आउट होने के बाद मैच नीरस होने की उम्मीद हो जाती है, लेकिन इस बार धोनी के आउट होने बाद रोमांच बढ़ गया. 15 ओवर के बाद चेन्नई को जीत के लिए 30 गेंदों में 62 रनों की जरूरत थी. इसके बाद हर ओवर में मामला इधर उधर ही होता रहा.