close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मनु भाकर का हरियाणा सरकार पर तंज, कन्फर्म करें इनाम सही या सिर्फ जुमला है

मनु भाकर ने हरियाणा के खेल मंत्री अनिल विज को टैग कर ट्वीट किया,  सर प्लीज यह कन्फर्म करिए कि क्या यह सही है, या सिर्फ जुमला है. 

मनु भाकर का हरियाणा सरकार पर तंज, कन्फर्म करें इनाम सही या सिर्फ जुमला है
16 साल की शूटर मनु भाकर ने पिछले साल वर्ल्ड कप, यूथ ओलंपिक और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीते थे. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: अगर यह पूछा जाए कि साल 2018 में भारत के किस खिलाड़ी ने सबसे अधिक कामयाबी हासिल की, तो जिन खिलाड़ियों का नाम सामने आएगा, उनमें शूटर मनु भाकर शायद पहला हो. 16 साल की मनु भाकर ने पिछले साल आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में दो गोल्ड जीते. कॉमनवेल्थ गेम्स में चैंपियन बनीं और यूथ ओलंपिक से भी गोल्ड मेडल लेकर आईं. जाहिर है, देखते ही देखते ही वह देश की लाडली हो गईं. उनके ना सिर्फ देशभर में करोड़ों प्रशंसक बन गए, बल्कि सरकारों ने उन  पर इनामों की बारिश कर दी. हालांकि, यह भी सच है कि उन्हें अब भी हरियाणा सरकार से अपने इनाम का इंतजार है. 

हरियाणा सरकार ने मनु भाकर को यूथ ओलंपिक में गोल्ड जीतने पर दो करोड़ की इनामी राशि देने का ऐलान किया था. यह घोषणा 10 अक्टूबर 2018 को हुई थी. करीब दो महीने बीत गए, तो मनु भाकर ने खेल मंत्री अनिल विज को इस इनाम की याद दिलाई. हालांकि, याद दिलाने की उनकी शैली तंजभरी थी. मनु भाकर ने शुक्रवार (4 जनवरी) को ट्वीट किया. उन्होंने पूछा, सर प्लीज यह कन्फर्म करिए कि क्या यह सही है, या सिर्फ जुमला है. मनु भाकर ने इस ट्वीट में राज्य के खेल मंत्री अनिल विज को टैग भी किया. 
 

Manu Bhakar Tweet

 

दरअसल, पिछले साल 10 अक्टूबर को अनिल विज ने दो अलग-अलग ट्वीट किए थे. उन्होंने एक ट्वीट में मनु भाकर को यूथ ओलंपिक में गोल्ड जीतने की बधाई दी थी. विज ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा था, ‘हरियाणा सरकार इस गोल्ड के लिए मनु भाकर को दो करोड़ की राशि इनाम देगी. पिछली सरकारों में यह राशि मात्र 10 लाख हुआ करती थी.’ मनु भाकर ने विज को इसी ट्वीट की याद दिलाई है. 

यह पहला मौका नहीं है जब खिलाड़ियों को अपने इनाम के लिए आवाज उठानी पड़ी है. देश में ऐसे कई मामले पहले भी सामने आए हैं. जैसे कि साइना नेहवाल को मध्य प्रदेश सरकार के इनाम घोषित करने के करीब एक साल बाद इनामी राशि मिल पाई थी. इनामी राशि को लेकर भी सवाल उठते रहे हैं. जैसे कि 2018 में पश्चिम बंगाल सरकार ने एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाली स्वप्ना वर्मन को 10 लाख रुपए और एक नौकरी देने की घोषणा की थी. तब कुछ खिलाड़ियों ने कहा था कि इनामी राशि ज्यादा होनी चाहिए. कई राज्यों में इसी इवेंट के गोल्ड मेडलिस्ट को एक-एक करोड़ रुपए दिए गए थे.