नामवर सिंह

नामवर सिंह: हिन्दी आलोचना की वाचिक परंपरा के अंतिम शिखर

एक आलोचक के रूप में, नामवर सिंह की किताबों से अधिक उनके व्यक्तित्व का मूल्यांकन होता रहा है... उनके समूचे व्यक्तित्व में एक शैलीगत भव्यता के दर्शन होते हैं.

Feb 21, 2019, 02:20 PM IST

हिंदी के शिखर आलोचक नामवर सिंह पंचतत्व में विलीन

लोदी रोड शवदाह गृह में शाम पौने पांच बजे साहित्य , मीडिया और शिक्षा जगत की सैंकड़ों प्रमुख हस्तियों ने अश्रुपूरित नेत्रों से उन्हें अंतिम विदाई दी . 

Feb 20, 2019, 07:11 PM IST

साहित्यकार नामवर सिंह के निधन पर प्रधानमंत्री ने जताया गहरा शोक

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, 'हिन्दी साहित्य के शिखर पुरुष नामवर सिंह जी के निधन से गहरा दुख हुआ है. उन्होंने आलोचना के माध्यम से हिन्दी साहित्य को एक नई दिशा दी'

Feb 20, 2019, 03:16 PM IST

नामवर सिंह स्मृति: 'आलोचना वाद भी है, विवाद और संवाद भी'

यों तो हिंदी के प्राय: सभी बड़े लेखक और आलोचक गांवों से ही चलकर आए हैं पर रामविलास शर्मा और नामवर जी के बोल-व्यवहार और लहजे में गांव शायद ही कभी अनुपस्थित रहा हो.

Feb 20, 2019, 02:40 PM IST

नामवर सिंह के साथ आलोचना के स्वर्णिम युग का हुआ अंत

हिंदी साहित्य का एक पुरोधा और आलोचना का एक स्तंभ गुजर गया. प्रख्यात साहित्यकार और आलोचक डॉ नामवर सिंह नहीं रहे. 93 वर्ष की उम्र में मंगलवार की रात नामवर सिंह का एम्स अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया. जनवरी महीने में अपने कमरे में गिरने के बाद से वो एम्स में भर्ती थे.

Feb 20, 2019, 02:21 PM IST

वरिष्ठ साहित्यकार और आलोचक नामवर सिंह का निधन, 92 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

हिंदी साहित्यकार नामवर सिंह का दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया है

Feb 20, 2019, 08:25 AM IST

हिंदी के साहित्यकार और समीक्षक नामवर सिंह को ब्रेन हेमरेज, एम्स में हुए भर्ती

हिंदी साहित्य की दुनिया का बड़ा नाम हैं नामवर सिंह, देर रात उनकी तबियत बिगड़ी

Jan 16, 2019, 09:54 AM IST

भारत की निरंतरता और स्थिरता का नेहरू दर्शन नहीं समझ पाए नामवर

प्राचीन विदेशी यात्रियों की किताबों में लिखे वर्णन शायद अतिरंजित और कल्पना पर आधारित ही अधिक लगते, अगर भारत की धरती से सदियों बाद उनके पुरातात्विक ढांचे न निकल आए होते, उन विवरणों से हूबहू मिलते.

Aug 6, 2018, 02:07 PM IST

गुजराती लेखक रघुवीर चौधरी को मिलेगा 2015 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

वर्ष 2015 के लिए साहित्य क्षेत्र का प्रतिष्ठित भारतीय ज्ञानपीठ पुरस्कार जाने माने गुजराती साहित्यकार रघुवीर चौधरी को प्रदान किया जाएगा। यह 51वां ज्ञानपीठ पुरस्कार होगा। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के मुताबिक, 'ज्ञानपीठ चयन बोर्ड ने 51वें ज्ञानपीठ पुरस्कार के लिए चौधरी के नाम पर मुहर लगाई। इस बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्य आलोचक नामवर सिंह ने की।' 

Dec 29, 2015, 08:07 PM IST

अकादमी पुरस्कार लौटा रहे लेखकों के साथ आया पेन इंटरनेशनल

देश में चल रही 'सांप्रदायिक घटनाओं' के खिलाफ विरोध जता रहे भारतीय लेखकों के साथ एकजुटता दिखाते हुए लेखकों के वैश्विक संघ ने भारत से अपील की है कि वह ऐसे लोगों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करे और संविधान की ओर से प्रदत्त अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का संरक्षण करे।

Oct 18, 2015, 10:59 AM IST

मराठी के साहित्यकार भालचंद्र नेमाडे को 50वां ज्ञानपीठ पुरस्कार

मराठी के जाने माने साहित्यकार भालचंद्र नेमाड़े को 50वां ज्ञानपीठ पुरस्कार दिये जाने की शुक्रवार को घोषणा की गयी। नेमाड़े देश का सर्वोच्च साहित्य सम्मान पाने वाले 55वें साहित्यकार हैं। इससे पहले पांच दफा यह पुरस्कार संयुक्त रूप से प्रदान किया गया था।

Feb 6, 2015, 05:25 PM IST

नामवर सिंह के हाथों भोजपुरी के प्रथम गजल अल्बम का लोकार्पण

सुपरिचित भोजपुरी शायर मनोज भावुक के भोजपुरी गजल अल्बम ‘तस्वीर जिन्दगी के’ का लोकार्पण नई दिल्ली के हिंदी भवन में देश के प्रख्यात साहित्यकार व समालोचक डॉ. नामवर सिंह के हाथों हुआ।

Aug 6, 2013, 08:34 AM IST