सीमांचल एक्सप्रेस

हाजीपुर: रेल हादसे की ग्राउंड ज़ीरो से EXCLUSIVE पड़ताल

3 फरवरी को त़ड़के सुबह चार बजे अचानक से एक जोरदार धमाके जैसी आवाज हुई और हर तरफ चीख पुकार मचने लगी. टॉर्च की रोशनी में जब स्थानीय लोग घरों से बाहर निकले तो पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई. हाजीपुर से करीब 25 किलोमीटर पहले सीमांचल एक्सप्रेस की 11 बोगियां पटरी से उतर गई थी. हालत ऐसी कि बोगी एक दूसरे पर चढ़ गई थी. हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हैं. रेलवे के मुताबिक पटरी टूटने से हादसा हुआ. लेकिन सूत्रों के मुताबिक दो डिब्बों को जोड़ने के लिए लकड़ी और रस्सी का इस्तेमाल किया गया जिससे Vaccum बनने से डिब्बे पटरी से उतरे गए. वहीं रेस्क्यू टीम पर स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. रेल हादसे की जगह पर लोगों ने रेस्क्यू टीम पर की पत्थरबाज़ी की है.

Feb 3, 2019, 07:36 PM IST

'जुगाड़' है सीमांचल एक्सप्रेस हादसे की वजह, डराने वाली है पूरी डिटेल

हादसा रविवार तड़के तीन बजकर 58 मिनट पर सहदेई बुजुर्ग में हुआ. पूर्व मध्य रेलवे के प्रवक्ता राजेश कुमार ने बताया कि सामान्य श्रेणी का एक डिब्बा, वातानुकुलित श्रेणी का एक डिब्बा बी3, शयनयान श्रेणी के डिब्बे एस8, एस9, एस10 और चार अन्य डिब्बे पटरी से उतर गए. रेलवे ने कहा कि ट्रेन हादसे में छह लोगों की मौत हुई है.

Feb 3, 2019, 09:35 AM IST

सीमांचल एक्सप्रेस रेल हादसे की जानकारी के लिए रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

यह हादसा हाजीपुर-शाहपुर पटोरी रेल खंड पर सहदेई बुजुर्ग स्टेशन के पास अल सुबह करीब 3:58 बजे हुआ है.

Feb 3, 2019, 09:05 AM IST