indian national army

कर्नल ढिल्लों के जुबानी आज़ाद हिन्द फ़ौज़ की कहानी

आज़ादी के सिपाही गुरबख्श सिंह ढिल्लों का जन्म 18 मार्च 1914 को पंजाब में हुआ था. कर्नल ढिल्लों नेताजी के सबसे मज़बूत स्तंभों में एक थे. इन्होंने देश की आज़ादी के लिए आज़ाद हिन्द फ़ौज़ का कारवां बढ़ाया था. आज के इस एपीसोड़ में जानिए कर्नल ढिल्लों के जुबानी आज़ाद हिन्द फ़ौज़ की कहानी...

Mar 19, 2019, 04:28 PM IST

ZEE जानकारी: पहली बार गणतंत्र दिवस की परेड में आजाद हिंद फौज के पूर्व सैनिक होंगे शामिल

आज़ादी के 71 वर्ष बाद आज़ाद हिंद फौज को ये सम्मान दिया जा रहा है . लेकिन लोगों के मन में ये सवाल भी उठ रहा है कि आज़ाद हिंद फौज को ये सम्मान देने में 71 वर्षों का समय क्यों लगा ? 

Jan 26, 2019, 12:24 AM IST

नेताजी के बहाने कांग्रेस पर पीएम मोदी का हमला

पीएम मोदी ने देश को म्यूजियम समर्पित किया है. लाल किले में नेताजी सुभाष चंद्र बोस म्यूजियम का पीएम ने उद्घाटन किया. म्यूजियम में नेताजी से जुड़ी हर जानकारी मौजूद हैं.

Jan 23, 2019, 03:07 PM IST

सन 47 से पहले आजाद हिंद की वह सरकार, जिसके नेता सुभाष थे

नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने 21 अक्‍टूबर, 1943 को सिंगापुर में आजाद हिंद फौज के सर्वोच्‍च कमांडर की हैसियत से कमान संभालते हुए स्‍वतंत्र सरकार की अस्‍थाई सरकार बनाने का ऐलान किया.

Oct 21, 2018, 01:34 PM IST

21 अक्टूबर को लाल किले के प्राचीर से तिरंगा फहराएंगे पीएम नरेंद्र मोदी, जानें वजह

पीएम मोदी ने अपने फेसबुक वॉल पर एक वीडियो संदेश जारी कर बताया है कि वह इस बार 21 अक्टूबर को लाल किले के प्राचीर से तिरंगा फहराएंगे.

Oct 18, 2018, 10:05 AM IST

आंबेडकर, पटेल के साथ नेताजी को भी अपनाने चली बीजेपी, मनाएगी आजाद हिंद फौज की 75वीं वर्षगांठ

21 अक्‍टूबर को है आजाद हिंद फौज की 75वीं वर्षगांठ. 30 दिसंबर को पोर्ट ब्‍लेयर में झंडा फहराएंगे पीएम मोदी.

Oct 16, 2018, 11:33 AM IST

ZEE जानकारी: हरियाणा का वो गांव जो आज भी अंग्रेजों के कानून का गुलाम है

जब आप इतिहास के पन्ने पलटेंगे तो आपको पता चलेगा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथ बहुत नाइंसाफी हुई और उनके पूरे व्यक्तित्व के साथ राजनीति का खेल खेला गया.

Jan 24, 2018, 12:05 AM IST

नेता जी सुभाष चंद्र बोस का खजाना चुराने वाले को नेहरू ने दिया था इनाम?

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद फौज के खजाने को लूटा गया था। यह दावा लंबे वक्त से किया जा रहा यह है। इसका खुलासा अब नेताजी से जुड़ी फाइलों के जरिए सही साबित होता दिख रहा है। हाल ही में सार्वजनिक हुईं फाइलें बताती हैं कि खजाना लूटे जाने की बात नेहरू सरकार को पता थी। 1951 से 1955 के बीच टोक्यो और नई दिल्ली के बीच इस बारे में पत्राचार भी हुआ था।

Feb 5, 2016, 11:01 AM IST