अमेरिकी मरीन के इस्तेमाल के लिए ऑस्ट्रेलिया अपने उत्तर में बनाएगा नया बंदरगाह

यहां 2,000 से अधिक सैनिकों की अमेरिकी मरीन इकाइयां नियमित रूप से डार्विन के माध्यम से दोनों सहयोगियों के बीच करीबी सैन्य सहयोग के तहत आती-जाती रहती हैं.

अमेरिकी मरीन के इस्तेमाल के लिए ऑस्ट्रेलिया अपने उत्तर में बनाएगा नया बंदरगाह
नए बंदरगाह पर जमीन एवं पानी में चलते वाले बड़े युद्धपोतों के लिये भी सुविधाएं होंगी.

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया अपने उत्तरी तट पर एक नया गहरा बंदरगाह बनाने की योजना बना रहा है, जहां क्षेत्र में चीन की बढ़ती उपस्थिति का मुकाबला करने के लिए अमेरिकी मरीन को स्थापित किया जाएगा.

'एबीसी' की सोमवार को जारी की गई रिपोर्ट में कई रक्षा और सरकारी अधिकारियों के हवाले से कहा गया कि नॉर्दर्न टेरिटोरी की राजधानी डार्विन से 40 किलोमीटर दूर इसकी व्यवस्था की जाएगी, जिसने 2015 में विवादास्पद रूप से एक चीनी ऑपरेटर को अपना बंदरगाह पट्टे पर दे दिया था.

राष्ट्रीय प्रसारक 'एबीसी' ने खबर में कहा कि डार्विन तट पर अब भी कई सैन्य सेवाएं उपलब्ध हैं और यहां कई अमेरिकी पोत आते हैं लेकिन नए बंदरगाह पर जमीन एवं पानी में चलते वाले बड़े युद्धपोतों के लिये भी सुविधाएं होंगी. 

यहां 2,000 से अधिक सैनिकों की अमेरिकी मरीन इकाइयां नियमित रूप से डार्विन के माध्यम से दोनों सहयोगियों के बीच करीबी सैन्य सहयोग के तहत आती-जाती रहती हैं.