भारत ने PoK पर हमले जैसी कोई बात भी नहीं की, PAK सेना और PM इमरान खुद से ही बौखला रहे

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) पर हमले जैसी भारत की तरफ से कोई बात भी नहीं की गई है उसके पहले ही पाकिस्तानी सेना और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान बौखला गए हैं.

भारत ने PoK पर हमले जैसी कोई बात भी नहीं की, PAK सेना और PM इमरान खुद से ही बौखला रहे
भारत के प्रति पाकिस्तान की बौखलाहट कम होने का नाम नहीं ले रही.फाइल फोटो

नई दिल्ली: पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) पर हमले जैसी भारत की तरफ से कोई बात भी नहीं की गई है उसके पहले ही पाकिस्तानी सेना और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान बौखला गए हैं. जिसके बाद पीएम इमरान खान और पाकिस्तानी सैन्य प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा भारत के खिलाफ अलग ही राग अलाप रहे हैं. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने गुरुवार को कहा कि सैन्य प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने उन्हें आश्वस्त किया था कि 'अगर भारत अगर एलओसी (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) पर हमला करता है तो पाकिस्तानी सेना इसका सामना करने के लिए तैयार है.'

इमरान ने पंजाब प्रांत स्थित पिंड दादन खान में अपनी पार्टी तहरीक-ए-इनसाफ पाकिस्तान की एक रैली में भारत के अंदरूनी मामलों में खुलकर दखलंदाजी करने वाली बातें कीं. उनके भाषण से साफ था कि उन्हें डर है कि भारत अब किसी भी स्थिति में चुप नहीं रहेगा और पाकिस्तान को सबक सिखाने का मौका नहीं छोड़ेगा. 

भारत के प्रति पाकिस्तान की बौखलाहट 
भारत के प्रति पाकिस्तान की बौखलाहट कम होने का नाम नहीं ले रही. पहले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पूरी दुनिया के सामने रोना रोया, अब नागरिक संशोधन बिल पर वे भारत के खिलाफ राग अलाप रहे हैं. 

इमरान ने भारत के नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) का जिक्र करते हुए कहा, "मैं आपको बता रहा हूं, वह (भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) इसका (भारत में हो रहे विरोध प्रदर्शनों का) इस्तेमाल आजाद कश्मीर (पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर) में 'कुछ' करने के लिए करेंगे. मैंने यही बात जनरल बाजवा से कही. उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सेना भारत के लिए तैयार है." 

यह भी देखें:

इमरान खान इतने पर भी नहीं रुके और अपनी भड़ास निकालते हुए कहने लगे कि "मैं चाहता हूं कि आप मेरी भविष्यवाणी सुनें. भारत के लोग मोदी के खिलाफ उठ खड़े होंगे. केवल मुस्लिम नहीं बल्कि हिंदू, सिख, ईसाई भी."

इनपुट आईएएनएस से भी