close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान में पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पर हमला, तीन हमलावर और एक पुलिसकर्मी की मौत

पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत के एक प्रशिक्षण केंद्र में तीन आत्मघाती हमलावरों ने बुधवार को हमला कर दिया. 

पाकिस्तान में पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पर हमला, तीन हमलावर और एक पुलिसकर्मी की मौत
.(फाइल फोटो)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत के एक प्रशिक्षण केंद्र में तीन आत्मघाती हमलावरों ने बुधवार को हमला कर दिया. इसके बाद शुरू हुई गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी और तीनों हमलावर मारे गए . इस हमले में चार पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं. बलूचिस्तान के लोरालाई जिले में स्थित पुलिस लाइंस के मुख्य द्वार पर यह हमला उस वक्त हुआ जब पुलिसकर्मी जांच में व्यस्त थे. हालांकि, किसी ने भी अब तक इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन बलूच नेशनलिस्ट और तालिबान विद्रोही सुरक्षा बलों के खिलाफ ऐसे हमलों को अक्सर अंजाम देते रहते हैं.

पाकिस्तानी सेना ने एक बयान जारी कर कहा कि एक हमलावर द्वार पर ही मारा गया जबकि दो इमारत में प्रवेश कर गए. बयान में कहा गया है, ‘‘आत्मघाती हमलावरों को पुलिस ने मुख्य द्वार पर ही अलग अलग कर दिया था . एक आत्मघाती हमलावर को प्रवेश द्वार पर पुलिस ने मार गिराया जबकि दो अन्य परिसर के अंदर दाखिल हो गए .’’

सेना ने कहा, ‘‘इसके बाद गोलीबारी शुरू हो गयी जिस पर बचे दो हमलावरों में से एक ने स्वयं को विस्फोट कर उड़ा दिया जबकि दूसरे को सुरक्षा बलों ने मार गिराया .’’ बयान में कहा गया है कि पुलिस का एक हेड कांस्टेबल भी इसमें मारा गया है. इसमें कहा गया है कि सीमांत कोर के सैनिकों ने इलाके को घेर लिया है.

बलूचिस्तान के पुलिस महानिरीक्षक मोहसिन हसन बट्ट ने मीडिया को बताया कि हमलावरों ने आत्मघाती जैकेट पहनीा थी. द डॉन ने खबर दी है कि घायल पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डॉन की खबरों में कहा गया है कि इलाके में स्थिति सामान्य किये जाने की प्रक्रिया जारी है और हमले के बाद लोरालाई तथा उसके आस-पास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है.

हमले की निंदा करते हुए बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री जाम कमाल खान आल्यानी ने कहा, ‘‘पुलिस बल ने बहादुरी के साथ आतंकवादियों का मुकाबला किया. पुलिस ने जिस प्रकार से प्रभावी कार्रवाई की है उससे ऐसा लगता है कि हमारे सुरक्षा बल के जवान पूरी तरह तैयार हैं.’’

पिछले कुछ महीनों में लोरलाई में आतंकवादी घटनायें बढ़ी हैं. इस साल 30 जनवरी को एक भर्ती केंद्र में आतंकवादी हमले में कम से कम नौ पुलिसकर्मी मारे गए थे जबकि 21 अन्य घायल हो गए थे.