'बाल कटाने पर 6 माह तक कमरे में कैद रही, अब भागने पर तो घरवाले मुझे मार ही डालेंगे'

'बाल कटाने पर 6 माह तक कमरे में कैद रही, अब भागने पर तो घरवाले मुझे मार ही डालेंगे'

लड़की ने बताया कि शादी से बचने के लिए अपने परिवार से भाग गई. उसे सऊदी अरब लौटने पर मुश्किलों में फंस जाने का डर है.

'बाल कटाने पर 6 माह तक कमरे में कैद रही, अब भागने पर तो घरवाले मुझे मार ही डालेंगे'

बैंकॉक: थाईलैंड में प्रवेश करने से रोक दी गई 18 साल की एक सऊदी लड़की ने बैंकॉक हवाई अड्डे पर कहा है कि यदि थाई अधिकारी उसे वापस भेज देते हैं तो उसकी हत्या कर दी जाएगी. रहाफ मोहम्मद एम अल्कुनून ने एएफपी से कहा कि जब वह (बैंकॉक के) स्वर्ण भूमि हवाई अड्डे पर पहुंची तब उसे सऊदी और कुवैती अधिकारियों ने रोक लिया और उन्होंने उसके यात्रा कागजात जबरन ले लिए. रहाफ के दावे का ह्यूमन राइट्स वॉच ने समर्थन किया है.

रहाफ ने कहा, ‘‘सऊदी और कुवैती अधिकारियों ने मेरा पासपोर्ट ले लिया.’’ उनका कहना था कि वह घरवालों की बिना उसकी अनुमति के यात्रा कर रही है. लड़की ने कहा कि वह अपने परिवार से भाग रही थी क्योंकि उसे शारीरिक और मानसिक यंत्रणा दी जा रही थी.


पीड़ित लड़की. (PHOTO: @rahaf84427714)

मुझे मार डालेंगे
रहाफ ने कहा, ‘‘मेरा परिवार सख्त है और उसने मेरे बाल काटने को लेकर 6 महीने के लिए एक कमरे में बंद कर दिया था.’’ उसने कहा कि यदि मुझे वापस भेजा गया तो पक्का ही मुझे कैद कर लिया जाएगा. उसने कहा, ‘‘मैं सौ फीसदी पक्के तौर पर कहती हूं कि सऊदी जेल से निकलते ही वे मुझे मार डालेंगे.’’ रहाफ ने कहा कि वह डरी हुई है और उसकी उम्मीद खत्म हो गयी है.

पैसे भी नहीं हैं
थाईलैंड के मुख्य आव्रजन अधिकारी सुरचाटे हाकपार्न ने कहा कि रहाफ जब रविवार को कुवैती से यहां पहुंची तो उसे रोक लिया गया. उन्होंने कहा, ‘‘उसके पास वापसी टिकट जैसे दस्तावेज या पैसे नहीं थे.’’ वह हवाई अड्डे पर एक होटल में है.

शादी से बचने के लिए भागी
अधिकारियों ने कहा, ‘‘वह शादी से बचने के लिए अपने परिवार से भाग गई. उसे सऊदी अरब लौटने पर मुश्किलों में फंस जाने का डर है. हमने उसकी देखभाल के लिए अधिकारी भेजे हैं.’’ उन्होंने कहा कि थाई प्रशासन ने समन्वय के लिए सऊदी अरब दूतावास से संपर्क किया है. लेकिन रहाफ ने उनका खंडन करते हुए कहा कि वह ऑस्ट्रेलिया में शरण लेने के लिए जा रही थी. लेकिन उसे स्वर्ण भूमि हवाई अड्डे पर उतरने पर सऊदी और कुवैती दूतावासों के प्रतिनिधियों ने रोक लिया.

Trending news