अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बड़ा फैसला, नहीं मिलेंगे किम जोंग उन से

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को नॉर्थ कोरिया के राजा किम जोंग उन के साथ बैठक रद्द कर दी है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बड़ा फैसला, नहीं मिलेंगे किम जोंग उन से
ट्रंप ने दोनों देशों के बीच जारी तनाव के संकेत दिए थे.(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को नॉर्थ कोरिया के राजा किम जोंग उन के साथ बैठक रद्द कर दी है. यह बैठक 12 जून को सिंगापुर में होनी थी. न्यूज एजेंसी के मुताबिक ट्रंप ने यह फैसला किम के बयानों से नाराज होकर लिया है. इससे पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ 12 जून को सिंगापुर में होने वाली शिखर वार्ता पर निर्णय अगले सप्ताह लिया जाएगा. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों से कहा था कि 'सिंगापुर के बारे में हमें अगले सप्ताह पता चलेगा और अगर हम जाते हैं तो मुझे लगता है कि उत्तर कोरिया के लिए यह एक बड़ी बात होगी.

इससे पहले अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने सांसदों से कहा था कि 12 जून की शिखर वार्ता होगी. ट्रंप ने भी दोनों देशों के बीच जारी तनाव के बावजूद शिखर वार्ता होने के संकेत दिए थे. ट्रंप ने कहा, 'हम देखेंगे की क्या होता है. सिंगापुर पर हम देखेंगे की क्या होता है. और यह (शिखर वार्ता) हो सकती है. यह बहुत अच्छा हो सकता है. लेकिन जो है वह है, इन अनिश्चिताओं के बावजूद व्हाइट हाउस शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है.

यह भी पढ़ें-  टल सकती है अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के राजा किम जोंग की मुलाकात, यह है कारण

इससे पहले चीन की न्यूज एजेंसी ने बताया कि उत्तर कोरिया ने पुंगेय-री में स्थित परमाणु परीक्षण टेस्ट साइट को बंद कर दिया. इस साइट पर अब तक 6 परमाणु परीक्षण किए गए थे. बता दें कि मुलाकात से पहले किम ने परमाणु परीक्षण रोकने और साइट को बंद करने की बात कही थी. 

उत्तर कोरिया की धमकी के बीच शिखर वार्ता की तैयारी कर रहा था अमेरिका
अमेरिका ने बुधवार(16 मई) कहा था कि वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच होने वाली बैठक की तैयारियों में लगा है. उत्तर कोरिया ने इस ऐतिहासिक शिखर वार्ता को रद्द करने की धमकी देते हुए आरोप लगाया कि अमेरिका परमाणु निरस्त्रीकरण पर उसे ‘‘अलग-थलग’’ करने की कोशिश कर रहा है. उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम को एकतरफा तरीके से बंद करने के बदले में अमेरिका की ओर से वित्तीय सहायता को कभी स्वीकार नहीं करेगा.

व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उसपर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा
सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक में दोनों देशों की अपनी सीमा पर सैन्य तनाव कम करने के हाल के समझौतों को लागू करने के तरीकों तथा अपने संबंध सुधारने पर चर्चा करने की संभावना थी. इन रिपोर्टों पर प्रतिक्रिया करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा कि उत्तर कोरिया ने जो कहा है उसपर वह स्वतंत्र रूप से विचार करेगा. विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है. 

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि अमेरिका इस संबंध में मीडिया रिपोर्टों से अवगत है. सैंडर्स ने कहा, ‘‘उत्तर कोरिया ने जो कहा उसपर अमेरिका स्वतंत्र रूप से विचार करेगा और अपने सहयोगियों के साथ करीबी सहयोग करना जारी रखेगा.’’

विदेश विभाग ने कहा था कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है
विदेश विभाग ने कहा कि वह शिखर वार्ता की तैयारियां कर रहा है और दक्षिण कोरिया तथा अमेरिका के बीच चल रहे अभ्यासों पर उत्तर कोरिया ने एक भी शब्द नहीं कहा है. विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा कि किम ने पहले संकेत दिए थे कि वह दक्षिण कोरिया के साथ लंबे समय से नियोजित संयुक्त अभ्यास जारी रखने की अमेरिका की जरुरत और उद्देश्य को समझते हैं.

इनपुट भाषा से भी