close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विकिलीक्स के संस्थापक जुलियन अंसाजे करेंगे प्रत्यर्पण सुनवाई का सामना

अमेरिकी अधिकारियों ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि उनकी मंशा असांजे पर जासूसी कानून के तहत मुकदमा चलाने की है.

विकिलीक्स के संस्थापक जुलियन अंसाजे करेंगे प्रत्यर्पण सुनवाई का सामना
47 वर्षीय असांजे जमानत मिलने के बावजूद अदालत में पेश नहीं हुए थे

नई दिल्ली: विकिलीक्स के संस्थापक जुलियन असांजे के यहां लंदन की अदालत में वीडियो लिंक के जरिए सुनवाई का सामना करने की संभावना है क्योंकि वह अमेरिका प्रत्यर्पित किये जाने के खिलाफ मुकदमा लड़ रहे हैं.

47 वर्षीय असांजे जमानत मिलने के बावजूद अदालत में पेश नहीं हुए थे, जिसके कारण उन्हें 50 सप्ताह जेल की सजा सुनाई गयी और फिलहाल वह लंदन के बाहरी इलाके स्थित बेलमार्श जेल में सजा काट रहे हैं.

बीमार होने की वजह से वह हालिया सुनवाई में शामिल नहीं हो पायेंगे, हालांकि शुक्रवार को वीडियो लिंक के जरिये उनके वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पेश होने की संभावना है.

अमेरिकी अधिकारियों ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि उनकी मंशा असांजे पर जासूसी कानून के तहत मुकदमा चलाने की है. उन्होंने आरोप लगाया कि असांजे ने विकिलीक्स प्रकाशन को इराक एवं अफगानिस्तान में अमेरिका तथा गठबंधन बलों को गोपनीय सूचनाएं उपलब्ध कराने वाले लोगों के नाम उजागर करने का निर्देश दिया था.

हालांकि असांजे ने कहा कि एक पत्रकार हैं और अमेरिकी संविधान के ‘पहले संशोधन’ के तहत उन्हें अभिव्यक्ति एवं प्रेस की आजादी का अधिकार प्राप्त है.

यह संशोधन सरकार को ऐसे कानून बनाने से रोकता है जो धर्म की स्थापना एवं धर्म के स्वतंत्र पालन पर प्रतिबंध लगाते हैं या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को रद्द करते हैं अथवा प्रेस की स्वतंत्रता, शांतिपूर्वक एकत्रित होने या फिर सरकार को शिकायतों के निवारण के लिये याचिका के अधिकार से वंचित करते हैं। यह संशोधन 15 दिसंबर 1791 को अपनाया गया था.