• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,76,685 और अबतक कुल केस- 7,93,802: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 4,95,513 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 21,604 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.08% से बेहतर होकर 62.42% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,135 मरीज ठीक हुए
  • पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 19,135 मरीज ठीक हो चुके हैं, ठीक हुए लोगों और सक्रिय मामलों के बीच का अंतर 2 लाख से अधिक है
  • भारत में प्रति मिलियन आबादी पर कोविड-19 के सबसे कम 538 मामले हैं जबकि वैश्विक औसत 1497 हैं
  • MoHFW ने कोविड-19 के हल्के मामलों में HCQ का उपयोग करने की सिफारिश की और गंभीर रोगियों को इसके सेवन से बचने की सलाह दी
  • एएसआई के स्मारकों में फ़िल्म शूटिंग करने के लिए 15 दिन के अंदर मिलेगी इजाजत
  • 750 मेगावाट की रीवा सौर परियोजना से हर साल करीब 15 लाख टन CO2 बराबर कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी, PM राष्ट्र को करेंगे समर्पित
  • मंत्रालय एक राष्ट्र-एक राशन कार्ड योजना को जनवरी 2021 तक शेष सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में लागू करने के लिए प्रयासरत है
  • MHRD: विज्ञान, तकनीक और कानून आदि जैसे विषयों पर प्राथमिक से PG तक की गुणवत्ता वाली सामग्री विभिन्न प्रारूपों में उपलब्ध है

अब कानपुर देहात में सरेआम गोलीबारी, दो को उतारा मौत के घाट

कानपुर देहात जिले के सट्टी इलाके में यमुना पट्टी में बालू खनन किया जाता है. इसके लिए सरकारी पट्टा होता है. बालू की कमाई के चक्कर में कुछ लोग आपस में पार्टनरशिप करके ठेका लेते है. ऐसे ही दो पार्टनर का बालू ठेका सट्टी थाना इलाके में था.

अब कानपुर देहात में सरेआम गोलीबारी, दो को उतारा मौत के घाट

कानपुरः कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में संगीन अपराध का ग्राफ लगातार ऊपर बढ़ रहा है. सूबे में आए दिन सरेआम गोलीबारी कर दी जा रही है और जानलेवा अपराध हो रहे हैं. संभल, मेरठ के बाद अब कानपुर में गुरुवार को दो पक्षों में विवाद और मौत की घटना सामने आई है. जानकारी के मुताबिक कानपुर देहात में खनन को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया. जिसमें दो लोगों की मौत हो गई. घटना राजपुर क्षेत्र के खरका निबर्री गांव की है.

यह है मामला
दरअसल, कानपुर देहात जिले के सट्टी इलाके में यमुना पट्टी में बालू खनन किया जाता है. इसके लिए सरकारी पट्टा होता है. बालू की कमाई के चक्कर में कुछ लोग आपस में पार्टनरशिप करके ठेका लेते है. ऐसे ही दो पार्टनर का बालू ठेका सट्टी थाना इलाके में था. बालू खनन में पैसे के बंटवारे को लेकर सरेआम दो पार्टनर के बीच फायरिंग हो गई. इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई तो वहीं एक हमलावर को ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौंप दिया. 

मामले की जांच जारी
सूत्रों के मुताबिक चौहान नाम के ठेकेदार और उसके सहयोगी गुलशेर में पैसे के लेनेदेन को लेकर बवाल हो गया था. दोनों पक्षों की फायरिंग में गुलशेर और ज्ञानेंद्र सिंह नाम के युवक की जान चली गई. घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया की मामले में आगे की जांच की जा रही है. एसएसपी कानपूर देहात अनुराग वत्स का कहना है कि बालू का पट्टा वैध था. पार्टनर्स के बीच फायरिंग में दो लोगों की मौत हुई है. एक घायल को ग्रामीणों से छुड़ाया गया है. आगे की जांच जारी है.

साकेत कोर्ट में 20 देश के 83 जमातियों के खिलाफ चार्जशीट दायर

पांच अन्य लोग भी हुए जख्मी
गोली लगने से पांच लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए. सूचना पर पुलिस के पहुंचने पर फायरिंग करने वाले फरार हो गए. पुलिस ने घायलों को राजपुर अस्तपाल भिजवाया, जहां से गंभीर घायलों को कानपुर रेफर कर दिया गया. अस्पताल में उपचार के दौरान सट्टी गांव निवासी 40 वर्षीय गुजरेज खातिमी और दूसरे पक्ष के बिधनू कानपुर के जामू गांव निवासी 42 वर्षीय ज्ञानेंद्र सिंह की मौत हो गई. घटना के बाद एसपी अनुराग वत्स भी मौके पर पहुंच गए और घटना की पड़ताल शुरू कराई है.

इनामी नक्सली कमांडर ने किया आत्मसमर्पण, 25 जवानों की हत्या में था शामिल