सोमवार से सभी केंद्रीय मंत्रियों को अपने अपने दफ्तर से काम करने के आदेश

लॉकडाउन हटेगा या बढ़ेगा, ये निर्णय अभी तक नहीं लिया गया है लेकिन पीएम मोदी ने सभी केंद्रीय मंत्रियों को आदेश दिया है कि सभी मंत्री अपने अपने दफ्तरों से काम करें.  

सोमवार से सभी केंद्रीय मंत्रियों को अपने अपने दफ्तर से काम करने के आदेश

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉक डाउन है और कई राज्य इसे 30 अप्रैल तक बढ़ा चुके हैं. इस बीच केंद्र सरकार के सभी मंत्रियों से कहा गया है कि वे सोमवार से अपने-अपने दफ्तर जाना शुरू कर दें. 

बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से यह निर्देश दिया गया है. प्रधानमंत्री ने सभी मंत्रियों से कहा है कि वे अपना काम उचित प्रक्रिया के तहत करें लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें. सभी मंत्री सोमवार से काम शुरू करेंगे.

वरिष्ठ अधिकारियों को भी काम करने के निर्देश

गौरतलब है कि सीनियर अधिकारियों को ड्यूटी पर मौजूद रहना होगा. ऐसा आदेश दिया गया है. मंत्रियों को क्लास 2, 3 और 4 के स्टाफ के साथ रोटेशन के आधार पर काम करना होगा. केंद्रीय मंत्रियों के कार्य में वरिष्ठ अधिकारियों का बहुत महत्व होता है और किसी भी बड़े निर्देश को अधिकारियों के माध्यम से ही लागू कराया जाता है.

कोरोना वायरस ने दुनिया के 5 बड़े भ्रम तोड़ दिए.

सरकारी तंत्र को फिर से काम करने के लिए सक्रिय करना चुनौती

आपको बता दें कि महामारी के कारण लागू लॉकडाउन के मद्देनजर ठप पड़े देश को फिर से पटरी पर लाने के उद्देश्य से सरकार ने निर्णय लिया है कि सभी केन्द्रीय मंत्री सोमवार से अपने कायार्लयों में आकर काम करेंगे और उनके साथ-साथ मंत्रालयों तथा विभागों के उच्च अधिकारी भी कायार्लयों में आएंगे.

जानकारी के मुताबिक कि लॉकडाउन के कारण ठप पड़े देश की सरकारी मशीनरी का चक्का चलाने के लिए केन्द्रीय मंत्रियों को मंत्रालय स्थित कायार्लय में आकर काम करने को कहा गया है.

जान भी जहान भी- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कल बैठक में मुख्यमंत्रियों से कहा कि पिछली बार उन्होंने राष्ट्र के नाम संबोधन में कोरोना महामारी के मद्देनजर कहा था कि इससे बचने के लिए देशवासियों का घरों में रहना ही सबसे उत्तम विकल्प है. उन्होंने कहा था कि जान है तो जहान है लेकिन अब भारत के उज्ज्वल भविष्य के लिए समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए 'जान भी जहान भी' इन दोनों पहलुओं पर ध्यान देना आवश्यक है.

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अभी घोषणा की है कि महाराष्ट्र में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रहेगा. इससे पहले पंजाब, पश्चिम बंगाल और ओडिशा लॉक डाउन दो हफ्ते के लिए आगे बढ़ा चुके हैं.