दिल्ली: पढ़िए Begumpur Murder में 'लव जिहाद' की इनसाइड स्टोरी

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बेगमपुर में हुई 17 साल की नाबालिग लड़की की हत्या के आरोपी लईक खान को भले ही दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार (Delhi Police Arrests Laiq Khan) कर लिया है लेकिन अब भी कई सवाल ऐसे हैं जिनका जवाब मिलना बाकी है.  

Written by - Sandeep Singh | Last Updated : Feb 22, 2021, 04:28 PM IST
  • दिल्ली की बेटी की हत्या के बाद हिंदू धर्मगुरुओं में गुस्सा
  • क्या वाकई पूरे देश में लव जिहाद गैंग सक्रिय हो चुका है?
दिल्ली: पढ़िए Begumpur Murder में 'लव जिहाद' की इनसाइड स्टोरी

नई दिल्ली: घर के सबसे पीछे वाले कमरे में बैठी दुखियारी मां के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे. वो रो रही थी. तड़प रही थी. और पछता रही थी कि भला 17 साल भी कोई उम्र होती है दुनिया से चले जाने की. पिता भी गम के दरिया में डूबा हुआ था. बदले की आग में जल रहा था. बेटी का हत्यारा मिल जाए तो उसे भी वही मौत देना चाहता है जो उसकी बेटी को मिली है.

इस परिवार पर दुख का जो पहाड़ टूटा है उसकी बुनियाद में लव जिहाद का नासूर है. लईक खान नाम है उस आरोपी का, जिसने इस परिवार से हमेशा लिए इनकी बेटी छीन ली.

अब मां-बाप पछता रहे है कि न जाने वो कौन सी अशुभ बेला थी जब उन्होंने लईक खान को बेटा माना था, घर का सदस्य माना था और बेटा कहकर बुलाया था.

दरअसल, यही तो चाहता था लईक खान. यही तो प्लान था उसका कि इस घर में उसकी एंट्री हो जाए. उसे बेरोक टोक घर में आने जाने की आजादी मिल जाए. जिससे वो अपनी साजिश को अंजाम दे सके. मुंहबोले बेटे के दिल में तो पाप भरा था. दिमाग में फरेब नाच रहा था.

ये भी पढ़ें- Farmers Protest: वामपंथी ढपली के फेर में राकेश टिकैत!

जिस घर ने उसे बेटा माना था उसी घर की बेटी पर उसकी नीयत गंदी हो चली थी. जिस परिवार से उसने बेटे का रिश्ता बनाया, उस परिवार की बेटी को उसने बहन, कभी नहीं माना क्योंकि लईक तो नीतू को बहन नहीं पत्नी बनाने की हसरत पाले बैठा था.

शादी से नीतू के इनकार पर अपने गुस्से को लईक ऐसे पी गया था कि नीतू के मां बाप को भी उसके खौफनाक इरादे की भनक तक नहीं लगी. उसने दोबारा कभी भी नीतू के मां-बाप से शादी की बात नहीं छेड़ी लेकिन पीठ पीछे वो नीतू को शादी के लिए राजी करने की कोशिश में जुटा रहा.

ये भी पढ़ें- Rajasthan: बेटे की मौत के गम में पूरे परिवार ने की आत्महत्या

मौके के फिराक में था लईक

लईक अपनी साजिश को अंजाम देने के लिए हर वक्त मौके की तलाश में रहता था. शुक्रवार शाम को लईक खान को वो मौका मिल गया जब घर पर नीतू के मां बाप नहीं थे. अपने छोटे भाई और मौसेरे भाई के साथ नीतू घर पर थी, तभी लईक दोबारा आ पहुंचा. उसने नीतू को घर में अकेला करने के लिए उसके मौसेरे भाई को नॉनवेज लाने के लिए पैसे दिए और मार्केट भेज दिया. अब घर में नीतू अकेली थी.

रात के करीब 8 बजे जब नीतू की मां आई तो घर का ताला तोड़ा गया. घर के भीतर कदम रखते ही सभी के होश उड़ गए. नीतू खून से लथपथ पड़ी हुई थी. सिर से खून बह रहा था और पूरा सिर फट चुका था. अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने कहा कि बेटी दम तोड़ चुकी है.

ये भी पढ़ें- फिर खबरों में आया शाहीन बाग, CM योगी की STF ने कसा शिकंजा

कहते हैं बदले की आग में इंसान अंधा हो जाता है तो क्या शादी का प्रस्ताव ठुकराने के बाद लईक खान भी नीतू से बदले की आग में जल रहा था? शायद इसीलिए उसने नीतू के सिर में इतने हथौड़े मारे कि उसका सिर बुरी तरफ फट गया.

क्या लईक खान को नीतू पर इतना गुस्सा इसलिए था क्योंकि उसने लईक खान के प्लान को फेल कर दिया था और लवजिहाद की सुपारी लेकर निकले लईक खान के मंसूबे पर पानी फिर चुका था.

जिस बेरहमी से लईक खान ने नीतू को मारा, वो समझने के लिए काफी है कि लईक खान नीतू और उसके परिवार से कितनी नफरत करता था. अगर उसके दिल में नीतू के लिए प्यार पनपता तो वो इस तरह से नीतू का सिर हथौड़ा मारकर फोड़ नहीं देता.

ये भी पढ़ें- Mumbai में Lockdown? शाम सात बजे होगा Clear

लव जिहाद का शिकार हुई बेटी!

जिस वक्त नीतू की मां घर में दाखिल हुई, कमरे में खून से लथपथ बेटी बेसुध पड़ी थी. दुखियारी मां को अंदेशा है कि लईक खान ने उसकी बेटी के हाथ बांधकर हथौड़े से सिर पर दर्जनों वार किए. बेटी के छिन जाने के बाद इस परिवार की आंखे खुली. मुंहबोला बेटा लईक खान लव जिहादी निकला. अब ये परिवार भी अपनी बेटी को लव जिहाद का शिकार मान रहा है.

इस परिवार के नजदीक आने के लिए लईक खान ने पहले इनकी मदद करनी शुरू की. कई बार इनकी मदद कर लईक खान ने इन्हें अपना मुरीद बना लिया और उनका भरोसा जीत लिया. लईक खान ने नीतू के मां बाप को मम्मी पापा कहना शुरू किया तो परिवार को ऐसा लगा कि लईक भी उनकी अपनी ही औलाद है.

ये भी पढ़ें- अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस का खूनी इतिहास और पं. बंगाल में कितनी बची बंगाली भाषा

अब पीड़ित परिवार कह रहा है. समाज कह रहा है और आस पड़ोस कह रहा है कि ये लव जिहाद का मामला है लेकिन दिल्ली पुलिस अभी तक इसे लव जिहाद का मामला नहीं मान रही है.

लव जिहादी गैंग कितना सक्रिय?

आरोपी हत्यारा एक 17 साल की किशोरी की हत्या कर फरार हो गया है और दिल्ली पुलिस 2 दिनों से सड़कों की खाक छानती रही. हालांकि सोमवार सुबह पुलिस ने उसे यूपी के अमरोहा से गिरफ्तार कर लिया.

हालांकि लवजिहादी लईक खान पहले ही सलाखों के पीछे होता अगर दिल्ली पुलिस वारदात का पता चलते ही लईक के पीछे पड़ जाती.

दिल्ली की बेटी की हत्या के बाद हिंदू धर्मगुरुओं में गुस्सा है. अयोध्या में हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास तो कहते हैं कि लव जिहाद की साजिश में कई मदरसे जुटे हुए हैं.

ये भी पढ़ें- Farmers Protest: 'टूलकिट' कांड की 'गायब कड़ी' मिल गई!

सवाल है कि क्या वाकई दिल्ली समेत पूरे देश में लव जिहाद गैंग सक्रिय हो चुका है? क्या लव जिहादियों को हिंदू बेटियों से शादी कर धर्मपरिवर्तन कराने की सुपारी दी जा रही है क्योंकि लव जिहादी लईक खान भी संदेह के घेरे में है. वो एक फैक्ट्री में काम करता था और नीतू स्कूल में पढ़ती थी.

दोनों की दोस्ती नीतू की एक फ्रेंड ने कराई जिसके बाद लईक ने नीतू के घर वालों को इंप्रेस कर उसके घर में जगह बना ली और खौफनाक साजिश को अंजाम दे दिया.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़