भारत में पहली बार जल-थल-नभ का 'एक सेनापति'! जानिए- 8 फायदे

हिन्दुस्तान की सेना का साल 2020 में नया अवतार होगा और फिर आतंकिस्तान पर सबसे बड़ा प्रहार होगा. इस प्रहार से भारत की तरफ आंख उठाने वालों को चीथड़े उड़ जाएंगे. क्योंकि हिन्दुस्तान की तीनों सेनाओं का एक सेनापति होगा. आइये जानते हैं सरकार के इस फैसले से होने वाले 8 फायदे-

भारत में पहली बार जल-थल-नभ का 'एक सेनापति'! जानिए- 8 फायदे

नई दिल्ली: देश की तीनों सेनाओं में तालमेल बिठाने के मकसद से चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ पद पर पहले CDS के तौर पर जनरल बिपिन रावत को तैनात किया गया है. वो अगले तीन साल तक देश के CDS बने रहेंगे. इस पद के आने के बाद कई प्रमुख फायदे होने वाले हैं. आपको एक-एक करके कुल 5 फायदों से रूबरू करवाते हैं.

एक सेनापति, 8 प्रमुख फायदे

फायदा नंबर 1- तीनों सेनाएं बेहतर ढंग से प्लानिंग कर पाएंगी

देश की सुरक्षा के दृष्टिकोण से भारतीय वायुसेना, थल सेना और नौसेना को एकसाथ लेकर प्लानिंग करने में काफी सहूलियत होगी. जो युद्ध की स्थिति में खासा कारगर साबित हो सकती है.

फायदा नंबर 2- सेनाएं भी अपनी जरूरत प्रभावी तरीके से बता पाएंगी

तीनों सेनाओं के प्रमुख सीधे CDS यानी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ को रिपोर्ट करेंगे. ऐसे में तीनों सेनाएं अपनी जरूरत को सरकार तक प्रभावी तरीके से पहुंचा पाएंगी, जिससे चीजें और भी आसान हो जाएंगी.

फायदा नंबर 3- इंटेलिजेंस एजेंसियों के साथ सूचनाएं बेहतर साझा होंगी 

खुफिया एजेंसियों को मिलने वाली जानकारी को साझा करने में भी काफी सहूलियत आएगी. CDS के जरिए इस प्रक्रिया में भी काफी बेहतर तरीके से सूचना को गोपनीय तरीके से संचारित किया जा सकेगा.

फायदा नंबर 4- तीनों सेनाओं का तालमेल और ज्यादा बेहतर होगा

जब भारत की तीनों सेनाओं का प्रमुख एक होगा. यानी भारतीय थल सेना, वायुसेना और नौसेना का शीर्ष नेतृत्व एक होगा तो तालमेल और भी आसानी से बेहतर हो होगा.

फायदा नंबर 5- सेनाओं के प्रभावी नेतृत्व के लिए जरूरी

वैश्विक स्तर पर हिन्दुस्तान की बढ़ती ताकत को देखकर दुश्मन पूरी तरह से खिसियाये रहते हैं. वो बार-बार नापाक साजिश रचते रहते हैं ऐसे में सेनाओं के प्रभावी नेतृत्व के लिए CDS काफी जरूरी है.

फायदा नंबर 6- जल, थल और नभ में सेना के बीच तालमेल बनाएगा CDS

CDS यानी चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का मुख्य काम ही ये होगा कि वो तीनों सेनाओं यानी जल, थल और नभ में सेना के बीच तालमेल बनाएगा.

फायदा नंबर 7- रक्षा मंत्री और प्रधानमंत्री के लिए होगा सैन्य सलाहकार

किसी भी देश की समग्र रक्षा और सामरिक मुद्दों पर CDS देश के प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री को सलाह देंगे. जो एक तरह से उनका सैन्य सलाहकार भी होगा.

फायदा नंबर 8- राष्ट्रीय सुरक्षा भी होगी CDS की जिम्मेदारी

सबसे खास बात कि देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी CDS की होगी. ऐसे हालात में वो हर बड़े फैसले लेने में प्रतिबद्ध होगा. जिससे देश पर नजर उठाने वालों की लंका लगनी तय है.

इसे भी पढ़ें: जनरल को 'कमान', सदमे में बाजवा और इमरान