शिकंजे में शरजील, अब अलीगढ़ पुलिस कर रही रिमांड पर लेने की तैयारी

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लेकर पिछले करीब दो महीने से लगातार धरना प्रदर्शन जारी है. जानकारी मिली है कि इन छात्रों ने शरजील इमाम को रिहा करो ...शरजील को आजादी दो...जैसे नारे लगाए. इधर अलीगढ़ पुलिस ने तिहाड़ में B वॉरंट दाखिल किया है. 

शिकंजे में शरजील, अब अलीगढ़ पुलिस कर रही रिमांड पर लेने की तैयारी

नई दिल्लीः असम काटने की बात करने वाले देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं. दरअसल अब उस पर अलीगढ़ पुलिस भी शिकंजा कस सकती है. कथित तौर पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में असम को काट कर देश से अलग करने के बयान देने के आरोप में अलीगढ़ पुलिस शरजील को रिमांड पर लेने की तैयारी में है.

अलीगढ़ पुलिस ने शरजील को जल्द ही अलीगढ़ लाने के लिए तिहाड़ जेल में बी वारंट दाखिल किया है. इस मामले में कोर्ट 18 फरवरी को सुनवाई करेगा.

बिहार के जहानाबाद से हुई थी गिरफ्तारी
जानकारी के अनुसार एएमयू में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ धरना-प्रदर्शन के दौरान शरजील इमाम ने विवादित बयान दिया था. उसके भड़काऊ बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसके बाद कई जगह उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. एफआईआर दर्ज होने के बाद शरजील फरार हो गया था.

बाद में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने शरजील को बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया था. शरजील इमाम पर अलीगढ़ के सिविल लाइन थाने में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज है. गिरफ्तारी के बाद से वह दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद है.

आईआईटी बॉम्बे में सहायक शिक्षक रहा शरजील
बिहार के जहानाबाद का रहनेवाला शरजील इमाम, JNU के सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज का छात्र है. इसने पटना के सेंट जेवियर हाईस्कूल से पढ़ाई पूरी करने के बाद दिल्ली के वसंत कुंज दिल्ली पब्लिक स्कूल से हायर सेकेंडरी करने के बाद शरजील ने आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस में एमटेक की डिग्री हासिल की. आईआईटी बॉम्बे में सहायक शिक्षक भी रहा. देश बांटकर असम काटने की बात करने वाले शरजील इमाम और उसके समर्थकों के लिए बुरी खबर है. 

वॉयस सैंपल देने से कर रहा था इनकार
देशद्रोह मामले में जेएनयू के पूर्व छात्र शरजील इमाम का वॉइस सैंपल ले लिया गया है. शरजील के सैंपल का मिलान उसके भाषण से किया जाएगा. दिल्ली पुलिस को शरजील ने वॉइस सैंपल देने से इनकार कर दिया था. जिसके बाद पुलिस ने अदालत के फैसले का हवाला दिया उसके बाद वो राजी हुआ. निचली अदालत ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए वॉइस सैंपल लेने की इजाजत दी.

जितनी डिग्री, उतना ज्यादा दिमाग में कट्टरपंथ, शरजील ही नहीं तमाम हैं उदाहरण

एएमयू में लगे नारे, 'शरजील को रिहा करो'
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लेकर पिछले करीब दो महीने से लगातार धरना प्रदर्शन जारी है और वहां के छात्र इसका विरोध कर रहे हैं. विरोध के क्रम में ये स्टूडेंट कई तरीके अपना रहे हैं जानकारी मिली है कि एएमयू के कुछ स्टूडेंट्स ने देशद्रोह के आरोपी शरजील इमाम के पक्ष में नारे लगाए हैं.

इन छात्रों ने शरजील इमाम को रिहा करो ...शरजील को आजादी दो...जैसे नारे लगाए, इस मामले का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें ये छात्र खुलेआम शरजील के पक्ष में नारे लगा रहे हैं. 

तो क्या पूरी जिदंगी जेल में रहेगा 'देशद्रोही' शरजील इमाम?

इसे भी पढ़ें: गिरफ्तार होने के बाद भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा 'देश विरोधी' शरजील