• देश में कोरोना से अब तक 169 लोगों की मौत, 478 इलाज के बाद ठीक हुए: स्रोत-PIB
  • भारत में कोरोना के 5218 सक्रिय मामलों सहित मरीजों की संख्या 5865 हुई (9 अप्रैल शाम 5 बजे तक के आंकड़े)
  • कोरोना राहत: 7 करोड़ किसानों के अकाउंट में भेजे गए 14 हजार करोड़ रुपए
  • कोरोना से जंग के लिए रेलवे 2500 डॉक्टर और 35हजार पैरा मेडिकल स्टाफ की तैनाती करेगी
  • 'लाइफलाइन उड़ान' हवाई सेवाओं के जरिए 39 टन से ज्यादा मेडिकल सप्लाई देश के विभिन्न राज्यों में भेजी गई
  • आयकर विभाग 5 लाख से कम के पेन्डिंग आईटी रिफंड तुरंत जारी करेगा
  • रिलीफ कार्यों के लिए स्वयंसेवी संगठन फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया से सीधे अनाज खरीदने की अनुमति प्रदान की गई

सबसे बड़ा बदला: PAK के घर में घुसकर वायुसेना ने ऐसे किया था आतंकी अड्डों को तबाह

जब-जब पाकिस्तान भारत में दहशतगर्दी फैलानी की कोशिश करता है, उसे हिन्दुस्तान ऐसी चोट पहुंचाता है कि वो सदियों तक इसे भुला नहीं पाता है. पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से आज ही के एयरस्ट्राइक के जरिए सबसे बड़ा बदला लिया था.

सबसे बड़ा बदला: PAK के घर में घुसकर वायुसेना ने ऐसे किया था आतंकी अड्डों को तबाह

नई दिल्ली: 14 फरवरी साल 2019 को पुलवामा आतंकी हमले में 40 जवान की शहादत का बदला आज ही के दिन यानी 26 फरवरी 2019 को भारतीय शूरवीरों ने आक्रामक अंदाज में लिया था. पुलवामा आतंकी हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना के पाक के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर बड़ी कार्रवाई की थी

आतंकियों पर बरसाये थे 1000 किलो बम

तड़के सुबह करीब 3.30 बजे वायुसेना के मिराज विमानों ने बालाकोट, चकोटी और मुजफ्फराबाद में जबरदस्त बमबारी की थी. आज ही का वो दिन था, जब हिन्दुस्तानी वायुसेना ने आतंकियों पर 1000 हजार किलो के बम बरसाये थे. ये एयर स्ट्राइक करीब 21 मिनट तक चली थी. भारत के इस वार से पाकिस्तान में पनाह लिये आतंकियों के कई ठिकाने तबाह हो गये थे. जैश के कंट्रोल रुम को भी तबाह कर दिया गया था. इस आतंकी हमले में 300 से ज्यादा आतंकियों को जहन्नुम भेज दिया गया था.

ऑपरेशन को पीएम मोदी ने किया था मॉनिटर

आतंक का आका बन चुके पाकिस्तान को घर में घुसकर हिंदुस्तान ने बड़ा सबक सिखा दिया था. आतंकिस्तान को तबाह करने वाली इस तारीख वो वो कभी सपने में भी नहीं भुला पाएगी. क्योंकि पाकिस्तान जिन आतंकियों को अपनी गोद में पाल रहा था, इसी तारीख को ठीक एक साल पहले आतंकियों पर देर रात करीब 3.30 बजे एयर स्ट्राइक के रुप में आसमान से मौत बरसी थी. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पूरे ऑपरेशन को सिचुएशन रुम से मॉनिटर कर रहे थे.

पाकिस्तान इसे लेकर तरह-तरह का एजेंडा चलाता रहा है. आज का दिन उसे उसकी औकात दिखाने वाला दिन है, यही वजह है कि वो इसे लेकर तरह तरह की अफवाहें फैलाने में अब भी जुटा हुआ है. पाकिस्तान सरकार अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके झूठ फैलाने में जुटा हुआ है.

कांग्रेस पार्टी के पदचिन्हों पर चल रहा है PAK

इतना ही नहीं पाकिस्तान के विचार हूबहू वैसे ही हैं, जो कांग्रेस पार्टी कहती रहती है. कांग्रेस पार्टी ने भी बालाकोट एयर स्ट्राइक और पुलवामा आतंकी हमले को चुनावी मुद्दा करार दिया था. आज पाकिस्तानी सरकार ने भी इसे लेकर मोदी सरकार पर घिनौना आरोप लगाते हुए ये कह दिया कि "प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव में जीत पाने के लिए अपने 40 जवानों की हत्या करा दी."

कैसे हुआ था इतना बड़ा ऑपरेशन?

जानकारी के अनुसार इस ऑपरेशन में सभी एजेंसियों की मदद ली गई और 'अवेक्स' तकनीक का इस्तेमाल किया गया. आपको बता दें कि इस पूरे ऑपरेशन को भारतीय सेना का ताकतवर विमान मिराज-2000 लीड कर रहा था जबकि सुखोई मिराज को कवर दे रहा था. वहीं एक साल बीत जाने के बाद भी आतंकिस्तान के खिलाफ इस कार्रवाई से पाकिस्तान में बौखलाहट साफ नज़र आ रही है.

पाक की बौखलाहट इसलिए भी है क्योंकि इस हमले में उसके अपने आतंकी और जैश के कैंप तबाह हो गए थे. टॉप कमांडर मारे जा गए थे, अपनी सरजमीं पर आतंकी अड्डों को ध्वस्त करने के लिए पाकिस्तान ने कोई कड़े कदम नहीं उठाए हैं. 

15 तारीख को ही बन गया था बदले का प्लान

आपको हिन्दुस्तान के इस बड़े बदले का पूरा प्लान समझाते हैं. जानकारी के मुताबिक 14 फरवरी को पुलवामा अटैक के बाद उस वक्त के एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने 15 फरवरी को हवाई हमले का प्लान तैयार किया था, रक्षा मंत्री के सामने प्लान पेश किया गया था. भारतीय थल सेना और वायुसेना को पूरी जानकारी दी गई. 20-21 फरवरी, 2019 को हमले की जगह तय की गई थी और सर्विलांस के लिए ड्रोन लगाये गये थे. मिशन के लिए दो मिराज स्क्वाड्रन के साथ 12 जेट्स का चयन किया गया था. हमले का ट्रायल रन भी किया गया था. एयर स्ट्राइक के लिए 12 मिराज-2000 ने उड़ान भरी थी, मिराज लेजर गाइडेड बम से लैस थे. ऑपरेशन में सर्विलांस ड्रोन का भी इस्तेमाल हुआ. ड्रोन ने मुजफ्फराबाद के पास उड़ान भरी और लेजर तकनीक से टारगेट सेट किये.

इसे भी पढ़ें: ज्यादा उड़ रहा था पाकिस्तान, भारत ने दिखाई 'औकात'! मारे गए कई PAK सैनिक

आज बालाकोट एयर स्ट्राइक को 1 साल पूरे हो चुके हैं. पाकिस्तान अपने आतंकियों की मौत का दर्द अबतक नहीं कम कर पाया है. लेकिन वो शायद ये भूल जाता है कि ये नया हिन्दुस्तान है, अगर वो हमारी तरफ आंख भी उठाकर देखेगा तो उसका नक्शा बदल जाएगा.

इसे भी पढ़ें: PAK के 16 सैनिकों की मौत का मातम मना रहे हैं इमरान खान 'नियाजी'

इसे भी पढ़ें: दिल्ली को दहलाने की साजिश Decode, "दंगे के पीछे ISI और PAK का हाथ"