यूपी के सोनभद्र में मिला अरबों का सोना, नीलामी की तैयारी में सरकार

सोनांचल के नाम से मशहूर उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले की पहाड़ियों में एक सर्वे के मुताबिक तीन हजार टन सोना दबे होने की जानकारी सामने आई है.

यूपी के सोनभद्र में मिला अरबों का सोना, नीलामी की तैयारी में सरकार

लखनऊ: पूरे देश में सोने की खानों के लिये मशहूर उत्तरप्रदेश का सोनभद्र जनपद एक बार फिर से चर्चा में है. देश के सबसे बड़े जनपद उत्तर प्रदेश के सोनभद्र की सोन पहाड़ी में 2943.25 टन व हरदी क्षेत्र में 646.15 किलोग्राम सोने का भंडार मिला है. इस बात की पुष्टि भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय ने कर दी है. आपको बता दें कि निदेशक रोशन जैकब ने मुख्य खनिजों की नीलामी के आदेश जारी कर दिए हैं और नीलामी प्रक्रिया ई-टेंडरिंग के जरिए होगी.

जीएसआई ने 2012 में कर दी थी पुष्टि

वर्ष 2005 से ही यहां जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआई) की टीम ने अध्ययन करके सोनभद्र में सोना होने के बारे में बताया था और इस बात की पुष्टि भी 2012 में हुई कि सोनभद्र की पहाड़ियों में सोना मौजूद है. लेकिन इस दिशा में अब तक काम शुरू नहीं हुआ था, लेकिन अब प्रदेश सरकार ने तेजी दिखाते हुए सोने के ब्लॉक के आवंटन के संबंध में प्रक्रिया शुरू कर दी है.

पहाड़ी में लगभग तीन हजार टन सोना

सोनभद्र की पहाड़ी में लगभग तीन हजार टन सोना दबा है. भू-भौतिकीय सर्वे के दौरान सोनांचल की पहाड़ी में सोने के साथ लोहा सहित भारी मात्रा में दूसरे खनिज भी दबे हैं. जिले के कई भू-भागों में हेलिकॉप्टर से भू-भौतिकीय सर्वे जारी है. इस सर्वेक्षण में विद्युती चुम्बकीय एवं स्पेक्ट्रोमीटर उपकरणों का प्रयोग किया जा रहा है. 

हेलिकॉप्टर से हुआ था सर्वेक्षण

इन उपकरणों का कुछ भाग हेलिकॉप्टर के नीचे लटका रहता है जो कि जमीन की सतह से 60-80 मीटर की ऊंचाई पर उड़ते हुए सर्वेक्षण करता है. सोनभद्र डीएम एन. राजलिंगम ने कहा इन हेलिकॉप्टर में कुछ उपकरण नीचे लटके रहते हैं, उन्हें देखकर लोग न चिंता करें, न भय. बता दें कि जिले के छिपिया ब्लॉक में सिलेमिनाइट की दस मीलियन टन की अनुमानित मात्रा छिपी है. इसी तरह जिले के पुलवर, सलईडीह ब्लॉक के कुछ भागों में इस सर्वे के दौरान एंडालुसाइट अब तक पाया गया है.

ये भी पढ़ें- मुश्किल में आजम खान, जौहर विश्वविद्यालय पर योगी सरकार ने कसा शिकंजा