उपद्रवी हो जाए सावधान, संपत्ति से धोना पड़ सकता है हाथ

हड़ताल, रोड जाम के समय प्रदर्शनकारियों के द्वारा जो भी लोग पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचा रहे हैं वह सावधान हो जाइए क्योंकि सरकार ने इसके खिलाफ कड़े फैसले कर लिए हैं. 

उपद्रवी हो जाए सावधान, संपत्ति से धोना पड़ सकता है हाथ

नई दिल्ली: देश में प्रदर्शन के दौरान सड़के, बसों, रेल या भवनों को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के लिए बड़ी खबर है. प्रदर्शन के दौरान बिना सोचे-समझे गरमागरमी में प्रदर्शनकारी सब कुछ भूल कर देश की संपत्ति को बड़े स्तर पर क्षति पहुंचाते हैं जो बिल्कुल भी उचित नहीं है और अब इसको लेकर केंद्र सरकार गंभीर हो गई है. केंद्र सरकार सरकारी संपत्ति पहुंचाने वाले लोगों के खिलाफ एक्शन लेने वाली है. जो भी लोग हड़ताल या प्रदर्शन के समय सरकारी संपत्ति को क्षति पहुंचाएगा पहले प्रशासन उसकी पहचान करवाएगा.

21-22 दिसंंबर को ट्रेने हुई कैंसिल, बदली गई रुट लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

सूत्रों की मानें तो प्रशासन पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान करने वाले लोगों की पहचान करने के बाद उनकी संपत्ति जब्त कर लेगा. सरकार की तरफ से यह एक कड़ा कदम होगा पर सरकार इस तरह के फैसले प्रदर्शन की आर में निजी व सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवियों को सबक सीखाना चाहती है. सरकार के इस कदम से ऐसे उपद्रवियों को किसी भी प्रकार के संपत्ति को क्षति पहुंचाना मंहगा पड़ेगा.

जानिए किसके आदेश और क्यों की जाती है इंटरनेट सेवाएं बंद, लिंक पर क्लिक कर जाने खबर.

केंद्र सरकार ने यह कदम देशभर में प्रदर्शन के दौरान हो रहे पब्लिक व निजी प्रॉपर्टी की वजह से उठा रहे हैं. इसके लिेए प्रशासन से रिपोर्ट भी मांगी गई है. बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले से ही सरकारी प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने वाले उपद्रवों पर कार्रवाई की बात कह चुकी है.