आज 18 जनवरी का पंचाग, जानिए किस शुभ संयोग में करें नई शुरुआत

आज सोमवार को बेहद खास पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र है. आज का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:27  से दोपहर 13:07  तक है  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 19, 2021, 05:55 AM IST
  • ज्योतिष में 27 नक्षत्रों के बीच पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र का अपना विशेष स्थान है
  • आकाश मंडल में पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र का 25वां स्थान है
आज 18 जनवरी का पंचाग, जानिए किस शुभ संयोग में करें नई शुरुआत

नई दिल्लीः  सप्ताह का पहला दिन सोमवार नई शुरुआत करने का उत्तम दिन होता है. यह उत्साह और ऊर्जा का भी प्रतीक है. अगर आज की तारीख में आप कोई शुभ शुरुआत करने जा रहे हैं तो समय और अनुकूल परिस्थितियों पर भी ध्यान दीजिए. इसका फल होगा कि कार्य के शुभ संपन्न होने की संभावना और अधिक बढ़ जाएगी.

इसके लिए जरूरी है कि पंचाग के आधार पर शुभ तिथि और समय की जानकारी ली जाए. आचार्य विक्रमादित्य इसी बारे में मार्गदर्शन कर रहे हैं.

आज है पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र

तिथि की बात करें तो आज सोमवार का दिन है. यह पौष मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है. आज सोमवार का दिन और पौष शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि है जो कि 9 :17  बजे तक ही रहेगी. इसके बाद बाद षष्ठी तिथि प्रारंभ हो जाएगी. इसी के साथ नक्षत्र पर ध्यान दें तो नक्षत्र भी आज का शुभ संयोग देने वाला है.

आज बेहद खास पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र है. आज का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:27   से दोपहर 13:07  तक है. इसका अर्थ हुआ कि अगर आप किसी शुभ कार्य की योजना बना रहे हैं तो इस दौरान आप कोई भी काम शुरू कर सकते हैं.  यह आपके लिए शुभफल दायक होगा.

क्लिक करें- Farmers Protest Update: कानून वापसी की मांग पर अड़े किसान, कृषि मंत्री बोले 'कोई और रास्ता निकालें'

जानिए, आज का राहु काल

किसी कार्य के शुरू करने से पहले राहुकाल भी जान लीजिए. यह भी जरूरी है. राहुकाल यानि वो समय जब आपको कोई भी अच्छा काम करने से बचना चाहिए. आज  प्रातः 7:30 से राहुकाल की शुरुआत है. इसके बाद 9  बजे तक राहुकाल रहेगा. इस दौरान राहुकाल में आप कोई भी विशेष कार्य की शुरुआत नहीं करें.

क्या है पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र

ज्योतिष में 27 नक्षत्रों के बीच पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र का अपना विशेष स्थान है. आकाश मंडल में पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र का 25वां स्थान है. पूर्वाभाद्रपद का शाब्दिक अर्थ है पहले आने वाला भाग्यशाली चरणों वाला.  वैदिक ज्योतिष के अनुसार, एक व्यक्ति के दो चेहरे वाले को भी पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह मानते हैं, जिसका एक चेहरा बहुत नम्र, सभ्य तथा संस्कारी है और दूसरा चेहरा बहुत हिंसक तथा विनाशकारी है.

यह इस नक्षत्र का प्रतीक चिह्न है. पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में जन्में लोग मानवता में विश्वास रखते हुए केवल दूसरों के भले के बारे में ही सोचते हैं. ये एक दयालु और नेक दिल होने के साथ-साथ खुले विचारों वाले व्यक्ति भी होते हैं. इसके साथ ही बहुत साहसी और दूसरों की मदद करने में सदा आगे रहते हैं.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप. जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें- Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=e... iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़