प्याज के बाद अब आलू की कीमतें भी बढ़ीं, जानें क्यों ?

प्याज तो लोगों को पहले से रुला ही रहा था, अब आलू भी महंगा होता जा रहा है. पिछले हफ्ते में आलू के दाम दोगुने हो गये.

प्याज के बाद अब आलू की कीमतें भी बढ़ीं, जानें क्यों ?

दिल्ली: भारत में प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं. प्याज के दाम 120 रुपये से 150 रुपये प्रति किलो तक पहुंच चुके हैं. इसके बाद अब आलू की कीमतें भी भाव खा रही हैं. कई राज्यों में नया आलू 30 से 40 रुपये प्रति किलोग्राम तक बिक रहा हैं कीमतें चढ़ने की वजह पिछले दिनों हुई बारिश बताई जा रही है.

एक सप्ताह में दोगुने हो गये दाम 

एक सप्ताह पहले तक दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और हिमाचल प्रदेश सहित उत्तर भारत के कुछ राज्यों में आलू की कीमत 12 से 20 रुपये प्रति किलोग्राम तक थी. अब दिल्ली-एनसीआर, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में कीमत जहां करीब 30 रुपये प्रति किलोग्राम हैं, वहीं हिमाचल प्रदेश में यह सबसे महंगा बिक रहा है. यहां कीमतें 40 रुपये के पार पहुंच गई हैं.

अब विदेश से भारत पहुंचने लगा है प्याज़

एमएमटीसी अबतक कुल मिलाकर 42500 मीट्रिक टन प्याज़ के आयात का करार कर चुकी है. इसमें से 12000 मीट्रिक टन प्याज़ 31 दिसम्बर तक भारत पहुंच जाएगा. एमएमटीसी ने सबसे पहले 6090 मीट्रिक टन प्याज़ के आयात के लिए मिश्र से करार किया था. सूत्रों के मुताबिक़ इस करार के तहत प्याज़ से लदे तीन जहाज अबतक मुम्बई के बंदरगाह पर पहुंच चुके हैं और जहाजों का पहुंचना लगातार जारी है.

सरकार बाहर से मंगा रही प्याज

भारत सरकार ने प्याज की समस्या को दूर करने के लिये तुर्की से प्याज आयात करने का फैसला किया है. सरकारी कम्पनी एमएमटीसी ने टर्की से और प्याज़ मंगवाने के लिए करार किया है. क़रार के मुताबिक़ एमएमटीसी टर्की से 12500 मीट्रिक टन प्याज़ खरीदेगा. सरकार को उम्मीद है कि प्याज की इस आवक से दाम में गिरावट शुरू हो जाएगी . दिल्ली में नैफेड को मदर डेयरी और सफल के बूथों के ज़रिए सस्ता प्याज़ वितरित करने के निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें तुर्की से प्याज खरीदेगी सरकार