बच्चों में कोरोना संक्रमण को लेकर एक्सपर्ट से जानिए सभी जरूरी सवालों के जवाब

Corona in kids: बच्चों में नए स्ट्रेन से जुड़े काफी अलग-अलग लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं. नए स्ट्रेन से 5 से 12 वर्ष की आयु के बच्चे सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं.   

Written by - Harsha Chandwani | Last Updated : Apr 12, 2021, 07:56 PM IST
  • जानिए क्या बच्चों में म्यूटेट हो रहा है कोरोना वायरस
  • जानिए किस वर्ग के बच्चे हो रहे सबसे ज्यादा प्रभावित
बच्चों में कोरोना संक्रमण को लेकर एक्सपर्ट से जानिए सभी जरूरी सवालों के जवाब

नई दिल्ली: बच्चों में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से जुड़े कई मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में यह प्रश्न उठता है कि बच्चों में कोरोना के नए स्ट्रेन के संक्रमण के क्या लक्षण (Corona Symptoms in Kids) देखने को मिल रहे हैं.

किस आयु वर्ग के बच्चे इस वायरस से सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं. ऐसे सभी जरूरी प्रश्नों के जवाब दे रहे हैं उजाला सिग्नस ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के फाउंडर डायरेक्टर डॉ शुचिन बजाज

बच्चों में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से जुड़े क्या लक्षण देखने को मिल रहे हैं? 

जब देश में कोरोना वायरस की पहली लहर आई थी, तो उससे 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग अधिक प्रभावित हुए थे. इसके अलावा उन लोगों पर संक्रमण का प्रभाव अधिक दिख रहा था, जो कि पहले से किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थे.

युवाओं में महामारी के लक्षण बहुत कम देखने को मिल रहे थे और बच्चों में कोरोना संक्रमण की दर बहुत कम थी.

देश में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से जुड़े मामलों को देखा जाए, तो सभी आयु वर्ग के लोग भी इस नए स्ट्रेन से प्रभावित हो रहे हैं. नए स्ट्रेन से आठ-दस महीने के बच्चे भी संक्रमित (symptoms of corona in kids) हो रहे हैं. 

बच्चों में नए स्ट्रेन से जुड़े काफी अलग-अलग लक्षण दिख रहे हैं. बच्चों में दस्त, उलटी और पेट दर्द जैसे लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं. संक्रमित बच्चों में ऐसा जरूरी नहीं है कि उन्हें सूंघने में कमी और स्वाद न आने जैसी शिकायतें ही हों. 

क्या बच्चों में म्यूटेट हो रहा है कोरोना वायरस

बच्चों में भी यह वायरस म्यूटेट(corona virus mutated) हो रहा है. इन म्यूटेशन को दवाईयों के जरिए रोकने का प्रयास किया जा रहा है. जितने अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित होगा, उतना ही यह वायरस म्यूटेट होगा.

बच्चों के साथ हमें यह भी मुश्किल सामने आ रही है कि हम छोटे बच्चों को यह नहीं सिखा सकते कि वे कोरोना महामारी के प्रति कैसा व्यवहार करे. 

यह भी पढ़िए: तमाम अफवाहों के बावजूद, जानिए क्यों सभी को लगवानी चाहिए कोरोना वैक्सीन

बच्चों को खाने में क्या दें और क्या सावधानियां बरतें

बच्चें कोरोना के प्रति क्या व्यवहार करें, यह सिखाना होगा. उन्हें मास्क लगाना, समय-समय पर हाथ धोना जरूर सिखाए. 

बच्चों को घर पर बना हुआ पौष्टिक भोजन खिलाएं. बच्चों को बाहर का खाना जैसे जंक फूड आदि देने से बचें. 

किस आयु वर्ग के बच्चे हो रहे ज्यादा प्रभावित

5 से 12 साल की आयु के बच्चों में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से जुड़े हुए मामले अधिक देखने को मिल रहे हैं. पांच साल से भी कम आयु के बच्चों में भी कोरोना वायरस के अधिक मामले देखने को मिल रहे हैं.

इसका बड़ा कारण यह है कि बच्चे कोविड नियमों का बेहतरी से पालन नहीं कर पाते हैं.

बच्चों के लिए कब आएगी वैक्सीन

बच्चों के लिए अभी तक कोई वैक्सीन अभी नहीं बनी है. लेकिन कई वैक्सीन अभी परीक्षण के दौर में हैं. मॉडर्ना औइर फाइजार अभी बच्चों के लिए वैक्सीन विकसित करने के प्रयास में लगे हुए हैं. 

जल्द ही विश्वभर में बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध होगी. तब तक हमें बच्चों को और पौष्टिक भोजन आदि देना चाहिए.

यह भी पढ़िए: CBSE Board Exam 2021: क्या टल जाएंगे सीबीएसई बोर्ड के एग्जाम

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़