• भारत में कोरोना पीड़ितों की कुल संख्या 1637 हुई, मरने वालों की कुल संख्या 39 हुई, 133 लोग ठीक हुए
  • पिछले 3 दिनों में देश में कोरोना के कुल 626 मामले सामने आए,तबलीगी जमात के कारण दिल्ली और तमिलनाडु में मरीजों की संख्या अचानक बढी
  • महाराष्ट्र में कोरोना के 302 कुल मामले, 82 नए कोरोना मरीज, 12 की मौत 35 ठीक हुए
  • केरल में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 241, दो लोगों की मौत, 24 ठीक हुए, मंगलवार को 7 नए मामले
  • तमिलनाडु में कोरोना के कुल 124 मामले, 1 की मौत, 6 ठीक हुए, 57 नए केस सामने आए
  • दिल्ली में अभी तक कोरोना के कुल 120 मामले, इसमें से 23 नए मामले, 2 की मौत, 5 ठीक हुए
  • उत्तर प्रदेश में कोरोना के कुल 103 मरीज, 7 नए मामले, 14 लोग ठीक हुए, एक भी मौत नहीं
  • कर्नाटक में कोरोना के कुल 101 मामले, 13 नए केस सामने आए, 3 की मौत, 8 ठीक हुए
  • तेलंगाना में कोरोना के कुल 92 मामले, इसमें से 15 नए मामले, 6 लोगों की मौत, 14 ठीक हो चुके हैं
  • गुजरात में कोरोना के कुल 74 मामले, 6 की मौत, 6 ठीक हुए 4 नए मामले सामने आए

चीन कहा जा सकता है दुनिया में फैलने वाले वायरस का उदगम

इस बात में अब कोई संदेह नहीं रह गया है कि दुनिया भर मेंं फैलने वाले तमाम वायरस मूल रूप से चीन से आते हैं. कोरोना वायरस के कहर के बाद अब इस दिशा में सोचा जा रहा है..  

चीन कहा जा सकता है दुनिया में फैलने वाले वायरस का उदगम

नई दिल्ली. क्या यह बात मान ली जाए कि चीन ही पूरी दुनिया में वायरस का जनक याने की उदगम स्थल है? इस प्रश्न का उत्तर पहले मुश्किल हो सकता था, कोरोना वायरस के बाद अब नहीं है. अब दुनिया का ध्यान इस तरफ गया है और पता चल रहा है कि चीन कहा जा सकता है दुनिया में फैलने वाले वायरस का स्रोत या उद्गम स्थल.

दुनिया का सबसे बड़ा मांस-खाऊ देश है चीन 

आज की तारीख में कुल आबादी चीन की 140 करोड़ है जो कि दुनिया की आबादी का करीब 20 फीसदी हिस्सा है. इसी देश में दुनिया का करीब 50 फीसद पशुधन है और जिस शहर से कोरोना निकला है वह शहर वहां आज दुनिया के सबसे बड़ा मटन बाजार के लिए जाना जाता है. चीन के लोग करीब 150 से ज्‍यादा प्रकार और प्रजातियों के पशु-पक्षियों को अपने भोजन में इस्‍तेमाल करते हैं. इनमें से कई पशु-पक्षी तो जीवित ही काटकर बेचे और खाये जाते हैं. 

पशु-मानव का सबसे बड़ा सम्पर्क चीन में 

उपरोक्त भोजन के उदाहरण से सिद्ध होता है कि पशु और मानव का सबसे बड़ा सम्पर्क चीन में है. इसलिए चीन में मानव और जानवर के बीच का संपर्क मनुष्‍य के शरीर में वायरस को तेजी से ट्रांसफर करने की क्षमता रखता है. दुनिया भर में चीन हवाई मार्ग से जुड़ा हुआ है इसलिए इस पर संदेह की गुंजाइश कम है कि दुनिया में फैलने वाले वायरस शायद चीन से ही निकल कर आते हैं.

 

पशु-मानव सम्पर्क वायरस के प्रसार का कारण 

चीन में दैनिक पशु-मानव सम्पर्क वायरसों के जन्म और प्रसार का कारण है. रिपोर्टों से पता चला है कि  मीट मार्केट में जानवरों के मांस और ब्लड का ह्यूमन बॉडी से लगातार संपर्क चलता रहता है जो कि  चीन में बहुत आम है. यही वो सबसे बड़ा कारण है जो कि वायरस के फैलने का माध्यम बनता है. थोड़ी सी भी हाईजीन की चूक से वायरस फैल जाता है. इसलिए कहा जा सकता है कि जिस देश में इतने बडे पैमाने पर मांस का सेवन किया जाता है, वहां हाईजीन न के बराबर ही रह पायेगा.

ये भी पढ़ें. कूड़ा बटोरने के लिए आकाश में लगने वाला है ये जाल