आने वाले दिनों में आतंकी हमलों से सावधान रहना होगा देश को

पाकिस्तान अपनी भारत-विरोध की हताशा में किसी भी सीमा तक जा सकता है, अब बढ़ा रहा है अंतर्राष्ट्रीय आतंकियों से रिश्तेदारी   

आने वाले दिनों में आतंकी हमलों से सावधान रहना होगा देश को

नई दिल्ली. भारतीय सेना अलर्ट मोड पर है. जानकारी आई है कि पाकिस्तानी सेना के लोग अंतर्राष्ट्रीय आतंकियों से मिलना-जुलना बढ़ा रहे हैं. और हैरानी की कोई बात नहीं होगी जब जिहादी मानसिकता का परिचय देते हुए हिन्दुस्तान पर आतंकी हमलों की साजिश को अंजाम देने की कोशिश की जाए.

कश्मीर और नागरिकता क़ानून के घाव हैं पकिस्तान के चेहरे पर 

लगातार भारत से पकिस्तान को निराशा हाथ लगी है. न सीमा पर जीत पा रहा है न सीमा के पार यूनाइटेड नेशंस में, पाकिस्तानी हुक्मरान अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं और अंतर्राष्ट्रीय इस्लामिक संगठन के पास जा कर भी भारत का रोना रो रहे हैं लेकिन फर्क कुछ भी नहीं पड़ रहा. इस बात ने पकिस्तान की हताशा को और बढ़ा दिया है.

आतंकियों से मुहब्बत भारत से नफरत 

यही पकिस्तान की सोच है और यही उसकी चाहत भी. पाकिस्तानी सेना के लोगों के बारे में खुफिया जानकारी आई है कि वे आतंकियों से मेलजोल बढ़ा रहे हैं. न सिर्फ पाक आर्मी के अफसर बल्कि पाकिस्तान सरकार के नेता भी इस तरह की नापाक हरकतों में लगे हैं. इस खबर पर गौर करते हुए जम्मू-कश्मीर और गुजरात की सीमा से जुड़े इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. 

जैशे मुहम्मद को भारत के खिलाफ जोश दिलाने की कोशिश 

इस तरह की बेजा हरकत की खबर भी पकिस्तान सीमा के पार से आई है. खबर के मुताबिक़ एक दिन पहले ही 27 दिसंबर को पाकिस्तानी सेना के पब्लिसिटी में माहिर सेनाधिकारी मेजर जनरल आसिफ गफूर कराची में स्थित जामिया रशीदिया मदरसे का दौरा करते पाए गए थे. जामिया रशीदिया मदरसे का सीधा ताल्लुक जैश ए मोहम्मद से है और सैय्यद सलाउद्दीन अक्सर इस मदरसे में देखा जाता है. 

ये भी पढ़ें. मुस्लिम देशों का संगठन बिगाड़ सकता है भारत और सऊदी अरब के रिश्ते