साप्ताहिक समीक्षाः सेंसेक्स, निफ्टी में आधी फीसदी गिरावट

Last Updated: Saturday, October 26, 2013 - 11:59

मुंबई: देश के शेयर बाजारों के प्रमुख सूचकांकों सेंसेक्स और निफ्टी में गत सप्ताह आधी फीसदी से अधिक गिरावट दर्ज की गई, जबकि मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में एक फीसदी से अधिक तेजी रही। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स गत सप्ताह 0.95 फीसदी या 199.37 अंकों की गिरावट के साथ शुक्रवार को 20,683.52 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी इसी अवधि में 0.72 फीसदी या 44.45 अंकों की गिरावट के साथ 6,144.90 पर बंद हुआ।
गत सप्ताह सेंसेक्स के 30 में से 10 शेयरों में तेजी रही। एलएंडटी (8.61 फीसदी), गेल (5.24 फीसदी), सेसा स्टरलाइट (3.53 फीसदी), एसबीआई (3.17 फीसदी) और मारुति सुजुकी (2.53 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे भेल (7.30 फीसदी), जिंदल स्टील (6.73 फीसदी), विप्रो (5.11 फीसदी), हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (4.84 फीसदी) और आईटीसी (3.95 फीसदी)।
आलोच्य अवधि में बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में एक फीसदी से अधिक तेजी रही। मिडकैप सूचकांक 1.2 फीसदी तेजी के साथ 5,965.48 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 1.53 फीसदी तेजी के साथ 5,825.75 पर बंद हुआ।
गत सप्ताह के प्रमुख घटनाक्रमों में शुक्रवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कहा कि उसकी सहायक इकाई रिलायंस जियो इनफोकॉम को देश के सभी 22 सर्किलों के लिए एकीकृत लाइसेंस मिल गया है। इस तरह आरआईएल पूरे देश के लिए एकीकृत दूरसंचार लाइसेंस हासिल करने वाली पहली कंपनी बन गई है। एकीकृत लाइसेंस के तहत कंपनी ध्वनि टेलीफोनी सहित हर प्रकार की टेलीफोनी सेवा उपलब्ध करा सकेगी।
केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि सरकार ने मौजूदा कारोबारी साल में 20 सरकारी बैंकों में 14 हजार करोड़ रुपये के शेयर पूंजी निवेश को मंजूरी दे दी है। इस निवेश के तहत सबसे अधिक 2,000 करोड़ रुपये भारतीय स्टेट बैंक को, 1,800 करोड़ रुपये सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और आईडीबीआई बैंक (प्रत्येक) को, 1,200 करोड़ रुपये इंडियन ओवरसीज बैंक को, 1,000 करोड़ रुपये बैंक ऑफ इंडिया को, 550 करोड़ रुपये बैंक ऑफ बड़ौदा को और 500 करोड़ रुपये पंजाब नेशनल बैंक को मिलेंगे। (एजेंसी)



First Published: Saturday, October 26, 2013 - 11:59


comments powered by Disqus