बीजेपी ने पृथक तेलंगाना के प्रति प्रतिबद्धतता दोहराई

भाजपा ने पृथक तेलंगाना राज्य बनाने के समर्थन में अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए शुक्रवार को केन्द्र सरकार से मांग की कि वह इससे मुद्दे से जुड़े सभी हितधारकों को बुलाकर उन्हें विश्वास में ले और उनकी चिंताओं पर चर्चा करे।

Updated: Oct 11, 2013, 03:30 PM IST

नई दिल्ली : भाजपा ने पृथक तेलंगाना राज्य बनाने के समर्थन में अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हुए शुक्रवार को केन्द्र सरकार से मांग की कि वह इससे मुद्दे से जुड़े सभी हितधारकों को बुलाकर उन्हें विश्वास में ले और उनकी चिंताओं पर चर्चा करे।
पार्टी के अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि भाजपा तेलंगाना बनाने के पक्ष में अपनी स्थिति को दोहराती है। आंध्रप्रदेश में पैदा हुआ संकट कांग्रेस पार्टी के अंदरूनी संकट का नतीजा है। कांग्रेस नीत सरकार ने अंतर-क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्विता पैदा की है। केन्द्र और आंध्रप्रदेश दोनों सरकारों को इसे नियंत्रित करने के कदम उठाने चाहिए।
सिंह ने यहां जारी बयान में कहा कि नए राज्य के गठन के लिए काफी राजनीतिक कार्य करने और कुशाग्र राजनीतिक नेतृत्व की आावश्यकता होती है। लेकिन नेतृत्व के संकट से जूझ रही कांग्रेस ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया। इसने हालात को दिन-ब-दिन बिगड़ने दिया। राज्य के बंटवारे जैसे संवदेनशील मुद्दे पर राज्य में सामान्य हालत बने रहना जरूरी है।
उन्होंने कहा कि हम मांग करते हैं कि राज्य सरकार प्रदेश के हर इलाके में विभिन्न क्षेत्रों के रहने वाले लोगों की जान-ओ-माल की पूरी सुरक्षा की व्यवस्था करे। भाजपा अध्यक्ष ने तेदेपा के चन्द्रबाबू नायडु और वाईएसआर कांग्रेस के जगनमोहन रेड्डी से अपील की कि वे अनशन समाप्त कर दें। उन्होंने राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में आंदोलित लोगों और संगठनों से भी आंदोलन तुरंत वापस लेने और हालात सामान्य बनाने की अपील की। (एजेंसी)