नीतीश कुमार : निशाने पर पीएम पद

Last Updated: Monday, March 31, 2014 - 16:57

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का जन्म 1 मार्च 1951 को पटना जिले के बख्तियारपुर में हुआ। नीतीश के पिता का नाम श्री कविराज राम लखन सिंह और माता का नाम श्री मति परमेश्वरी देवी है। नीतीश ने बिहार कॉलेज आफ इंजीनियरिंग से स्नातक किया है। नीतीश जनता दल-यूनाइटेड के एक बड़े नेता हैं। बिहार के मुख्यमंत्री रहते हुए नीतीश ने अपने विकासवादी कार्यक्रमों से काफी लोकप्रियता हासिल की है। नीतीश ने अपने शासन में जवाबदेही तय की है जिसे जनता ने काफी पसंद किया है।
नीतीश ने अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत एक छात्रनेता के रूप में की। जयप्रकाश नारायण के आंदोलन 1974 से 1977 के दौरान नीतीश ने राजनीति का ककहरा सीखा और इस आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई। आंदोलन में सक्रियता के कारण नीतीश को मीसा एक्त के तहत हिरासत में भी लिया गया। नीतीश पहली बार 1985 में लोकदल के टिकट पर बिहार विधानसभा में चुनकर आए। साल 1987 में नीतीश राज्य के युवा लोक दल के अध्यक्ष बनाए गए।
नीतीश 1998-2004 तक राजग के कार्यकाल में रेल मंत्री रहे। रेल मंत्री रहते हुए नीतीश ने रेल की सुरक्षा और उसके आधुनिकीकरण की दिशा में कई उपाय किए। चूंकि, लोकसभा चुनाव 2014 में नीतीश कुमार पीएम पद के प्रबल दावेदारों में हैं। नीतीश कृषि मंत्री भी रहे हैं। नीतीश ने कई मौकों पर अपनी दावेदारी के संकेत भी दिए हैं। नीतीश ने कहा है कि मौजूदा पीएम पद के उम्मीदवारों में उनका इस पद के लिए सबसे ज्यादा अनुभव है।बिहार में भाजपा से अलग होने के बाद जद़-यू की राजनीतिक जमीन थोड़ी कमजोर हुई है लेकिन बिहार में पिछड़े वर्गों के बीच इनकी पकड़ अभी भी है। नीतीश चुनाव के बाद भाजपा के साथ जाते हैं या अकेले राजनीतिक सफर तय करेंगे यह देखने वाली बात होगी।



First Published: Monday, March 31, 2014 - 16:57


comments powered by Disqus