अमेरिकी सरकार पर कर्ज का भारी बोझ, 22000 अरब डॉलर के पार पहुंचा आंकड़ा

फेडरल रिजर्व के पूर्व चेयरमैन एलन ग्रीनस्पैन ने चेतावनी दी है कि अमेरिका में बढ़ते सार्वजनिक कर्ज के कारण अगली आर्थिक मंदी आ सकती है.

अमेरिकी सरकार पर कर्ज का भारी बोझ, 22000 अरब डॉलर के पार पहुंचा आंकड़ा
पिछले 11 महीनों में 1,000 अरब का कर्ज इसमें जुड़ा है. (फाइल)

वाशिंगटन: अमेरिका का सार्वजनिक कर्ज रिकॉर्ड 22,000 अरब डॉलर की ऊंचाई पर पहुंच गया है. अमेरिकी वित्त विभाग द्वारा जारी आंकड़ों से यह जानकारी मिली है. विभाग द्वारा जारी दैनिक बयान में बताया गया कि 11 फरवरी को कर्ज की रकम 22,000 अरब डॉलर तक पहुंच गई. अमेरिका की दीर्घकालिक राजकोषीय चुनौतियों को लेकर समर्पित एक गैर-पक्षपातपूर्ण संगठन पीटर जी. पीटरसन फाउंडेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी माइकल ए. पीटरसन ने कहा, "राष्ट्रीय कर्ज अब 22,000 अरब डॉलर (22 ट्रिलियन डॉलर) पहुंच चुका है, क्योंकि हमने पिछले 11 महीनों में 1,000 अरब का कर्ज इसमें जोड़ा है." 

कांग्रेसनल बजट आफिस (सीबीओ) ने जनवरी में अनुमान लगाया था कि संघीय बजटीय घाटा साल 2019 में करीब 900 अरब डॉलर होगा और साल 2022 से हर साल यह 1,000 अरब डॉलर से अधिक रहेगा. सीबीओ के मुताबिक, लगातार बढ़ते घाटे के कारण अमेरिका का सार्वजनिक कर्ज 2029 तक उसके सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 93 फीसदी तक पहुंच जाएगा और 2049 तक जीडीपी का 150 फीसदी होगा. 

फेडरल रिजर्व के पूर्व चेयरमैन एलन ग्रीनस्पैन ने चेतावनी दी है कि अमेरिका में बढ़ते सार्वजनिक कर्ज के कारण अगली आर्थिक मंदी आ सकती है. विश्लेषकों का कहना है कि ट्रंप प्रशासन द्वारा 1,500 अरब डॉलर का कर छूट और सरकारी व्यय में बढ़ोतरी ने बजटीय घाटे और सार्वजनिक कर्ज दोनों में तेजी से बढ़ोतरी की है. 

(इनपुट-आईएएनएस)