Income Tax Deadline: Taxpayers को मिली बड़ी राहत! TDS रिटर्न, फॉर्म-16 जारी करने की डेडलाइन बढ़ी

Income Tax Return Deadline Extension: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के आदेश के मुताबिक, फॉर्म-16 को जारी करने की डेडलाइन अब 31 जुलाई कर दी गई है. इसके अलावा कुछ डेडलाइन जो पहले ही बढ़ाई जा चुकी हैं. इंडिविजु्अल्स अब वित्त वर्ष 2020-21 में कमाई गई इनकम के लिए टैक्स रिटर्न 31 जुलाई की बजाय 30 सितंबर तक भर सकते हैं. 

Income Tax Deadline: Taxpayers को मिली बड़ी राहत! TDS रिटर्न, फॉर्म-16 जारी करने की डेडलाइन बढ़ी

Income Tax Return Deadline: कोरोना महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए सरकार ने टैक्सपेयर्स के लिए कुछ राहतों का ऐलान किया है. सरकार ने इनकम टैक्स से जुड़े कामों की डेडलाइन को आगे बढ़ा दिया है. जैसे TDS दाखिल करने के लिए अब टैक्सपेयर्स के पास ज्यादा वक्त होगा, साथ ही पहली बार घर खरीदने वालों को भी सरकार ने टैक्स राहत को आगे बढ़ा दिया है. एक नजर इनकम टैक्स से जुड़े कुछ अपडेट्स पर डालते हैं

1. TDS रिटर्न की डेडलाइन बढ़ी

वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही (जनवरी-मार्च) के लिए TDS स्टेटमेंट देने की अंतिम तारीख अब 15 जुलाई, 2021 कर दी गई है,  जो कि पहले 30 जून थी. 

ये भी पढ़ें- भारत में लॉन्च हुई दमदार Skoda Kushaq, कीमत 10.50 लाख से शुरू; देखें जबरदस्त Features

2. फॉर्म-16 जारी करने की डेडलाइन बढ़ी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के आदेश के मुताबिक, फॉर्म-16 को जारी करने की डेडलाइन अब 31 जुलाई कर दी गई है, जो कि पहले 15 जुलाई थी. इससे नियोक्ताओं को थोड़ा वक्त मिलेगा.

3. PAN-आधार लिंक करने की डेडलाइन बढ़ी

आधार कार्ड-PAN को लिंक करने के लिए अब आपके पास 30 सितंबर तक का वक्त है. अगर आप इस डेडलाइन तक इन दोनों जरूरी डॉक्यूमेंट्स को लिंक करने में असफल रहे तो, आपका PAN कार्ड 'inoperative' हो जाएगा, आप कोई भी वित्तीय काम नहीं कर पाएंगे, इसके अलावा 1000 रुपये की पेनल्टी भी लगेगी. 

4. विवाद से विश्वास की भी डेडलाइन बढ़ी

केंद्र सरकार ने टैक्स से जुड़े विवाद के निपटारे के लिए लॉन्च की गई विवाद से विश्वास स्कीम (Vivad se Vishwas scheme) के तहत ब्याज के बिना पेमेंट करने की डेडलाइन को अब 31 अगस्त, 2021 तक बढ़ा दिया है. इस स्कीम की शुरुआत अक्टूबर 2020 में हुई थी.

5. कोरोना के इलाज के लिए कर्ज टैक्स फ्री 

जिन लोगों ने अपने नियोक्ताओं, दोस्तों और रिश्तेदारों से कोविड-19 के इलाज के लिए कर्ज लिया है, उन्हें उस अमाउंट पर कोई टैक्स नहीं देना होगा. किसी परिजन की कोविड से अगर मौत हो जाती है तो कंपनी से लिया गया कितना भी अमाउंट बिल्कुल टैक्स फ्री होगा. जबकि अगर किसी रिश्तेदार से 10 लाख तक की रकम मदद के लिए ली है तो टैक्स फ्री होगी. 

6. पहली बार घर खरीदने वालों को टैक्स राहत जारी

इसके अलावा पहली बार घर खरीदने वालों को सरकार ने तोहफा दिया है. सरकार ने ऐसे लोगों के निवेश पर मिलने वाले स्पेशल टैक्स रिलीफ (Special Tax Relief) की डेडलाइन को आगे बढ़ा दिया है. अब रेसिडेंशियल हाउस पर 3 महीने और टैक्स डिडक्शन का फायदा मिलेगा. इनकम टैक्स के सेक्शन 54 के तहत कोई व्यक्ति एक घर बेचता है और इससे उसे कोई कैपिटल गेन होता है, लेकिन 2 साल के अंदर कोई दूसरा घर खरीद लेता है तो उसे इस पर लगने वाले टैक्स से छूट मिल जाती है. ऐसे केस में टैक्स में राहत अब 3 सितंबर तक जारी रहेगी. 

ITR की डेडलाइन पहले ही बढ़ाई जा चुकी है

इसके अलावा कुछ डेडलाइन जो पहले ही बढ़ाई जा चुकी हैं. इंडिविजु्अल्स अब वित्त वर्ष 2020-21 में कमाई गई इनकम के लिए टैक्स रिटर्न 31 जुलाई की बजाय 30 सितंबर तक भर सकते हैं. सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (CBDT) ने कंपनियों के लिए रिटर्न फाइल करने की डेडलाइन 31 अक्टूबर से बढ़ाकर 30 नवंबर, 2021 कर दी है. कोई टैक्सपेयर जिसने अपना रिटर्न डेडलाइन के बाद भी नहीं भरा है, वो Belated ITR फाइल कर सकता है, लेकिन इसके लिए उसे पेनल्टी भरनी होगी. Belated ITR or Revised ITR भरने की अंतिम तारीख अब 31 जनवरी, 2022 है. 

ये भी पढ़ें- PPF, Sukanya Samriddhi, NSC के निवेशकों को लग सकता है झटका! 1 जुलाई से ब्याज दरों में हो सकती है कटौती

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.