close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Exit Poll 2019 पर उद्योग जगत ने साधी चुप्पी, हर किसी को 23 मई का इंतजार

Exit poll 2019 को लेकर प्रमुख उद्योग मंडलों FICCI, भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) और ASSOCHAM ने कोई टिप्पणी करने से इनकार किया. 

Exit Poll 2019 पर उद्योग जगत ने साधी चुप्पी, हर किसी को 23 मई का इंतजार
ज्यादातर सर्वे में NDA की पूर्ण बहुमत की सरकार बनती दिख रही है. (फाइल)

नई दिल्ली: भारतीय उद्योग जगत ने सोमवार को एक्जिट पोल पर चुप्पी साधते हुए कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. रविवार को आए तमाम एक्जिट पोल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दूसरा कार्यकाल मिलते हुए दिखाया गया है. चुनाव नतीजे 23 मई को आने हैं. इस बारे में प्रमुख उद्योग मंडलों फिक्की, भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) तथा एसोचैम ने कोई टिप्पणी करने से इनकार किया. 

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर दिए संकेत
महिंद्रा समूह के मुख्य अर्थशास्त्री सच्चिदानंद शुक्ला के एक ट्वीट कि इस सप्ताह क्या करना है, समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने जवाब देते हुए कहा, ‘‘इस सप्ताह हमारी निगाह सिर्फ एक चीज पर है.’’ उनका इशारा 23 मई के चुनाव नतीजों की ओर था.’’ उद्योग मंडल पीएचडीसीसीआई के अध्यक्ष राजीव तलवार ने कहा, ‘‘भारत में सभी को मतदाताओं के जनादेश का सम्मान करना चाहिए. यदि मतदाताओं को लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दूसरा कार्यकाल मिलना चाहिए तो यह किसी अन्य विचार की तुलना में सबसे अच्छा होगा.’’ 

हर्ष गोयनका ने इशारों में पीएम मोदी का लिया नाम
उन्होंने कहा कि जब भी भारतीय मतदाता को लगा है तो उसने सरकार बदली है. उन्होंने अपनी सोच के आधार पर ही किसी को दूसरा कार्यकाल भी दिया है. ऐसे में यदि संभवत: मोदी को दूसरा कार्यकाल मिलता है तो यह भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा होगा. आरपीजी एंटरप्राइजेज के चेयरमैन हर्ष गोयनका ने कहा कि एक बात निश्चित है कि अगले प्रधानमंत्री का नाम ‘एन’ से शुरू होगा. 

बाजार के लिए पीएम मोदी की वापसी बेहतर
ब्रोकरेज कंपनी एडलवाइस सिक्योरिटीज ने कहा कि यदि NDA स्पष्ट बहुमत के साथ आती है तो बाजार में उत्साह रहेगा और नीति में निरंतरता कायम रहेगी. कोटक इंस्टिट्यूशनल इक्विटीज ने सोमवार को जारी रिपोर्ट में कहा कि यदि चुनाव नतीजे बाजार की उम्मीदों के अनुरूप रहते हैं तो 23 मई के बाद हम बाजार में कुछ अवधि के लिए तेजी देख सकते हैं.