आज यूपी में नितिन गडकरी करेंगे 11595 करोड़ रुपये के हाइवे का शिलान्यास और उद्घाटन

इस कार्यक्रम में गडकरी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे.

आज यूपी में नितिन गडकरी करेंगे 11595 करोड़ रुपये के हाइवे का शिलान्यास और उद्घाटन
146 किलोमीटर लंबे अलीगढ़-मुरादाबाद खंड का उद्घाटन किया जाएगा. (फाइल)

नई दिल्ली: केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी बुधवार को उत्तर प्रदेश में 11,595 करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास करेंगे. इसके अलावा वह नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत कई अन्य परियोजनाओं की भी आधारशिला रखेंगे. मंत्रालय ने एक बयान में मंगलवार को यह जानकारी दी. गडकरी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे.

मंत्रालय ने कहा, ‘‘ केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, पोत परिवहन और जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा पुनर्जीवन मंत्री नितिन गडकरी बुधवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद, मेरठ और बागपत में 527 किलोमीटर की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनों का उद्घाटन एवं शिलान्यास करेंगे. इनकी कुल लागम 11,595 करोड़ रुपये है.’’ 

गडकरी मुरादाबाद में राष्ट्रीय राजमार्ग-93 पर 950 करोड़ रुपये की लागम से बने 146 किलोमीटर लंबे अलीगढ़-मुरादाबाद खंड का उद्घाटन करेंगे. इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग-24 के 100 किलोमीटर लंबे छह लेन के हापुड़ बाईपास-मुरादाबाद खंड का शिलान्यास करेंगे. इस पर 3,441 करोड़ रुपये की लागत आएगी.

बयान में कहा गया है कि वह मेरठ में तीन परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे. इनमें 708 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग-709ए पर बनने वाला 88 किलोमीटर लंबा चार लेन का मेरठ-बुढाना-शामली-उत्तर प्रदेश/हरियाणा (करनाल सीमा) खंड, 2,120 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग-119 पर 54 किलोमीटर लंबा चार लेन का मेरठ-नजीबाबाद खंड और 207 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला 78 किलोमीटर लंबा मेरठ-मुजफ्फरनगर खंड शामिल है.

इसके अलावा वह 3,367 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले गढ़मुक्तेश्वर-मेरछ खंड का भी शिलान्यास करेंगे.बयान के मुताबिक गडकरी बागपत में राष्ट्रीय राजमार्ग-334बी के 44 किलोमीटर लंबे दो लेन के मेरठ-बागपत-उत्तर प्रदेश/हरियाणा (सोनीपत सीमा) खंड का भी शिलान्यास करेंगे. इस पर 371 करोड़ रुपये की लागत आएगी. गडकरी नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत इन स्थानों पर कई सीवेज परिशोधन संयंत्र (एसटीपी) के काम की शुरुआत करेंगे.

(इनपुट-भाषा)