कच्चे तेल में उछाल से फिर महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, ये रहा आज का भाव

इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत शनिवार को तीन महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई. इसका असर घरेलू बाजार में भी देखा जा रहा है. घरेलू बाजार में शनिवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल के रेट में तेजी आई.

कच्चे तेल में उछाल से फिर महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, ये रहा आज का भाव

नई दिल्ली : इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल की कीमत शनिवार को तीन महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई. इसका असर घरेलू बाजार में भी देखा जा रहा है. घरेलू बाजार में शनिवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल के रेट में तेजी आई. ओपेक और उसके सहयोगी देशों की ओर से तेल उत्पादन में कटौती किए जाने से आने वाले दिनों में कच्चे तेल की कीमतें और बढ़ने की आशंका है. निवेश्कों को प्रोत्साहित करने के लिए ओपेक देशों और सहयोगी रूस ने उत्पादन में कटौती शुरू कर दी है.

ये रहे चारों महानगरों के रेट
राजधानी दिल्ली समेत चारों महानगरों में शनिवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी देखी गई. चारों महानगरों में पेट्रोल के रेट में 13 से 14 पैसे की तेजी देखी गई. वहीं डीजल में भी 13 से 14 पैसे की तेजी आई. दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के रेट बढ़कर क्रमश: 70.60 रुपये, 72.71 रुपये, 76.23 रुपये और 73.28 रुपये प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गए. वहीं डीजल भी दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 65.86 रुपये, 67.64 रुपये, 68.97 रुपये और 69.57 रुपये के स्तर पर पहुंच गए.

सऊदी-रूस की बड़ी कटौती
ओपेक के सबसे बड़े तेल आपूर्तिकर्ता देश सऊदी अरब ने मार्च तक अपने उत्पादन में 5 लाख बैरल प्रतिदिन की कटौती का ऐलान किया है. रूस ने भी अपने उत्पादन में बड़ी कटौती की तैयारी की है. इसका असर कच्चे तेल की कीमतों पर पड़ेगा. इसके बाद घरेलू बाजार में कीमतें बढ़ना तय माना जा रहा है.

70 डॉलर प्रति बैरल तक जा सकते हैं दाम
ओपेक देश की तरफ से कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती के फैसले के बाद इसके दामों में तेजी का सिलसिला जारी है. शुक्रवार के मुकाबले शनिवार को ब्रेंट क्रूड की कीमत में 1.68 प्रतिशत बढ़कर 66.25 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गई. वहीं डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत 55.98 डॉलर प्रति बैरल पर चल रही हैं. कच्चे तेल की कीमतों का यह हाई लेवल है. जानकारों का अनुमान है कि आने वाले दिनों में ब्रेंट क्रूड 70 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच सकता है.