close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अमेरिका में पहली बार सैन फ्रांसिस्को में इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के निर्माण और बिक्री पर रोक

भारत में भी इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट को ड्रग्स की कैटेगरी में लाने की तैयारी कर रही है.

अमेरिका में पहली बार सैन फ्रांसिस्को में इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के निर्माण और बिक्री पर रोक
भारत के कुछ राज्य जैसे पंजाब, हरियाणा, केरल, मिजोरम, कर्नाटक और जम्मू कश्मीर पहले ही ई-सिगरेट बैन है. (फाइल)

लॉस एंजिलिस: सैन फ्रांसिस्को मंगलवार को अमेरिका का ऐसा पहला बड़ा नगर हो गया है जहां पर इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट के बनाने और बिक्री पर पूरी तरह रोक लगा दी गई. नगर के पर्यवेक्षकों के बोर्ड ने एकमत होकर इससे संबंधित कानून का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि यह कदम उठाना इसलिए जरूरी है क्योंकि इससे लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है. शहर के मेयर के पास इस कानून पर दस्तखत के लिए दस दिन का समय है.

बता दें, भारत में भी इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पर रोक लगाने की तैयारी की जा रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट को ड्रग्स की कैटेगरी में लाने की तैयारी कर रही है. इस प्रस्ताव को औषधि तकनीकी सलाहकार बोर्ड (DTAB) ने मंजूरी दे दी है. डीटीएबी देश में दवाओं से संबंधित तकनीकी मामलों पर शीर्ष सलाहकार निकाय है.

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट को लेकर कुछ स्वास्थ्य संगठन का मानना है कि यह कम नुकसानदायक होता है. वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं जो परांपगत सिगरेट में नहीं है. भारत के कुछ राज्य जैसे पंजाब, हरियाणा, केरल, मिजोरम, कर्नाटक और जम्मू कश्मीर पहले ही ई-सिगरेट को बैन कर चुके हैं. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने भी ईएनडीएस पर पूर्ण प्रतिबंध की सिफारिश की है. 

(इनपुट भाषा से भी)