close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेंसेक्स और निफ्टी में स्थिरता, येस बैंक 13 प्रतिशत टूटा

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बीएसई सेंसेक्स गुरुवार को मामूली गिरावट के साथ बंद हुआ. लिवाली गतिविधियां कमजोर होने से कारोबारी धारणा कमजोर रही. कारोबारियों ने कहा कि रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा कमजोर वैश्विक धारणा का असर भी बाजार पर पड़ा.

सेंसेक्स और निफ्टी में स्थिरता, येस बैंक 13 प्रतिशत टूटा

मुंबई : उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बीएसई सेंसेक्स गुरुवार को मामूली गिरावट के साथ बंद हुआ. लिवाली गतिविधियां कमजोर होने से कारोबारी धारणा कमजोर रही. कारोबारियों ने कहा कि रुपये की विनिमय दर में गिरावट तथा कमजोर वैश्विक धारणा का असर भी बाजार पर पड़ा. कारोबार के दौरान एक समय में 300 अंक से अधिक गिरने के बाद सेंसेक्स अंत में 15.45 अंक अर्थात 0.04 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 39,741.36 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 39,461.27-39,800.81 अंक के दायरे में रहा.

हालांकि, नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 7.85 अंक यानी 0.07 की हल्की बढ़त के साथ 11,914.05 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान निफ्टी नीचे में 11,817.05 तथा ऊंचे में 11,931.35 अंक तक गया. सेंसेक्स के शेयरों में येस बैंक में लगातार दूसरे दिन सर्वाधिक नुकसान हुआ. रेटिंग कंपनी मूडीज ने निजी क्षेत्र के इस बैंक की साख की समीक्षा करने की घोषणा की है. इससे इसका शेयर 12.96 प्रतिशत नीचे आ गया. ऐसी आशंका है कि बैंक की वित्तीय साख का स्तर कम किया जा सकता है.

इंडसइंड बैंक, इन्फोसिस, मारुति, वेदांता, हीरो मोटो कार्प, टाटा मोटर्स, ओएनजीसी तथा आरआईएल भी 4.96 प्रतिशत तक टूटे. वहीं लाभ में रहने वाले प्रमुख शेयरों में पावर ग्रिड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, कोटक बैंक, बजाज फाइनेंस, भारती एयरटेल तथा एचडीएफसी बैंक तथा एचडीएफसी में 1.54 प्रतिशत तक की तेजी आयी. विशेषज्ञों के अनुसार अमेरिका तथा चीन के बीच व्यापार वार्ता को लेकर बढ़ती अनिश्चितता से धारणा कमजोर हुई है. ओमान की खाड़ी तथा होर्मुज जलसंधि में दो तेल टैंकरों पर हमलों की खबर से तेल के दाम में तेजी आयी.

हालांकि, औद्योगिक वृद्धि के बेहतर आंकड़े से गिरावट पर कुछ अंकुश लगा. यह आंकड़ा बुधवार को बाजार बंद होने के बाद आया था. खनन और बिजली उत्पादन में सुधार से देश के औद्योगिक उत्पादन में अप्रैल महीने में 3.4 प्रतिशत की वृद्धि रही. यह इसका छह महीने का उच्चतम स्तर है. खुदरा मुद्रास्फीति मई में बढ़ कर 3.05 प्रतिशत पर पहुंच गयी जो इसका सात महीने का उच्च स्तर है. हालांकि यह आरबीआई के लक्ष्य के अनुसार संतोषजनक स्तर पर है.

शेयरखान बाई बीएनपी परिबा के प्रमुख (परामर्श) हेमांग जानी ने कहा, 'कमजोर वैश्विक रुख के बीच मानक सूचकांक लगभग स्थिर बंद हुए. निफ्टी में रुख सकारात्मक रहा और यह 11,900 के स्तर से ऊपर बंद हुआ....' उन्होंने कहा, 'चुनाव के बाद का उत्साह के पश्चात बाजार का ध्यान अब कंपनियों की आय, मानसून तथा विभिन्न आर्थिक सुधारों एवं केंद्रीय बजट पर है. वैश्विक मोर्चे पर अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध के साथ तेल कीमतों में उतार-चढ़ाव आने वाले समय में रुख निर्धारित करेंगे.'

इस बीच, शेयर बाजारों के पास उपलब्ध अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को 1,050.43 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर बेचे. विश्व के अन्य बाजारों में शंघाई कंपोजिट सूचकांक में मामूली वृद्धि हुई वहीं हैंग सेंग, निक्की और कोस्पी नुकसान में रहे. वहीं यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी रही. ब्रेंट क्रूड का वायदा भाव 3.54 प्रतिशत की तेजी के साथ 62.09 डालर बैरल पर पहुंच गया.