टाटा समेत तीन कंपनियां हवाई अड्डा कारोबार में निवेश करेंगी

जीएमआर इंफ्रास्ट्रक्चर ने बुधवार को कहा कि टाटा समूह, सिंगापुर की सरकारी संपत्ति कोष जीआईसी की सहयोगी और एसएसजी कैपिटल मैनेजमेंट कंपनी के हवाई अड्डा कारोबार में 8,000 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी.

टाटा समेत तीन कंपनियां हवाई अड्डा कारोबार में निवेश करेंगी

नई दिल्ली : जीएमआर इंफ्रास्ट्रक्चर ने बुधवार को कहा कि टाटा समूह, सिंगापुर की सरकारी संपत्ति कोष जीआईसी की सहयोगी और एसएसजी कैपिटल मैनेजमेंट कंपनी के हवाई अड्डा कारोबार में 8,000 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. इस सौदे के बाद, जीएमआर एयरपोर्ट में जीएमआर इंफ्रा और उसकी सहयोगी कंपनियों की हिस्सेदारी करीब 54 प्रतिशत रह जाएगी. कर्मचारी कल्याण न्यास की 2 प्रतिशत, टाटा समूह के पास करीब 20 प्रतिशत, जीआईसी की करीब 15 प्रतिशत और एसएसजी की करीब 10 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी.

8,000 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे
इसके लेनदेन के तहत, जीएमआर इंफ्रास्ट्रक्चर का इरादा मौजूदा निजी इक्विटी निवेशकों को भी बाहर निकालने का है, जिनकी जीएमआर एयरपोर्ट्स लिमिटेड में 5.8 प्रतिशत हिस्सेदारी है. जीएमआर इंफ्रा ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि कंपनी ने निवेशकों (टाटा समूह, जीआईसी और एसएसजी कैपिटल) के साथ बाध्यकारी शर्त समझौते पर हस्ताक्षर किए है. जिसके तहत निवेशक जीएमआर एयरपोर्ट्स लिमिटेड में 8,000 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे.

आठ हजार करोड़ रुपये की राशि में जीएमआर एयरपोर्ट्स में 1,000 करोड़ रुपये का इक्विटी निवेश शामिल होगा. इसके अलावा जीएमआर इंफ्रा और उसकी अनुषंगी कंपनियों से जीएमआर एयरपोर्ट्स लिमिटेड के इक्विटी शेयर खरीदने के लिए रखे गए 7,000 करोड़ रुपये भी शामिल हैं.