close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस राज्य में किसानों के 1 लाख रुपये के कृषि लोन माफ का प्रस्ताव, हर साल 10 हजार आर्थिक मदद भी

 राज्य सरकार ने योग्य लोगों को प्रति माह 3,016 रुपये का बेरोजगारी भत्ता देने की भी घोषणा की.

इस राज्य में किसानों के 1 लाख रुपये के कृषि लोन माफ का प्रस्ताव, हर साल 10 हजार आर्थिक मदद भी
दिव्यांग लोगों का पेंशन 1,500 रुपये से बढ़ाकर 3,016 रुपये प्रति माह करने की भी घोषणा की गयी. (फाइल)

हैदराबाद: तेलंगाना सरकार ने 11 दिसंबर 2018 तक बकाया एक लाख रुपये के कृषि ऋण को माफ करने का शुक्रवार को प्रस्ताव किया. राज्य के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने 2019-20 के लिये लेखानुदान बजट पेश करते हुए कहा, ‘‘इसके लिये (कृषि ऋण माफी के लिये) छह हजार करोड़ रुपये का प्रस्ताव किया गया है.’’ उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति ने राज्य में विधानसभा चुनाव से पहले कृषि ऋण माफ करने का वादा किया था. 

इसके अलावा सरकार ने रायतु बंधु योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली वित्तीय मदद बढ़ाने की भी घोषणा की है. इसके तहत अभी किसानों को प्रति वर्ष आठ हजार रुपये दिये जाते हैं जिसे बढ़ाकर 10 हजार रुपये कर दिया गया है. राज्य सरकार ने योग्य लोगों को प्रति माह 3,016 रुपये का बेरोजगारी भत्ता देने की भी घोषणा की.

केंद्रीय मंत्री का दावा, अकेले पर्यटन क्षेत्र ने 4 सालों में 1.4 करोड़ लोगों को रोजगार दिया

वृद्धों, विधवाओं, अविवाहित महिलाओं, बीड़ी कामगारों, फिलारियासिस के मरीजों, हथकरघा कामगारों आदि को मिलने वाले आसरा पेंशन की राशि एक हजार रुपये से बढ़ाकर 2,016 रुपये प्रति माह तथा दिव्यांग लोगों का पेंशन 1,500 रुपये से बढ़ाकर 3,016 रुपये प्रति माह करने की भी घोषणा की गयी. चुनाव के दौरान ही मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने किसानों से वादा किया था कि ‘रायतु बंधु’ योजना के तहत वित्तीय मदद को प्रति वर्ष 8,000 रुपए प्रति एकड़ से बढ़ाकर 10,000 रुपए प्रति एकड़ कर दिया जाएगा.

(इनपुट-भाषा)