close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup: स्टोक्स ने कहा, मैं सुपर ओवर में रॉय को बैटिंग के लिए भेजना चाहता था, लेकिन...

बेन स्टोक्स ने कहा कि वे जीत के पल में मैदान पर रोने लगे थे. उन्होंने मार्क वुड के चश्मा पहना हुआ था. ऐसा लगा कि चश्मा टूट गया है. 

World Cup: स्टोक्स ने कहा, मैं सुपर ओवर में रॉय को बैटिंग के लिए भेजना चाहता था, लेकिन...
बेन स्टोक्स ने विश्व कप के फाइनल में 84 रन की नाबाद पारी खेली थी. (फोटो: IANS)

लंदन: इंग्लैंड की जीत के साथ ही आईसीसी क्रिकेट विश्व कप खत्म हो चुका है. अब इंग्लैंड (England) समेत अन्य सभी टीमें अपनी अगली सीरीज की तैयारी कर रही हैं. लेकिन इसके बावजूद विश्व कप का खुमार और विवाद पीछा नहीं छोड़ रहा है. विश्व कप के फाइनल में इंग्लैंड को जीत दिलाने वाले बेन स्टोक्स (Ben Stokes) तो अब भी सुपर ओवर याद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वे अब कभी भी सुपर ओवर का हिस्सा बनना नहीं चाहते. 

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया फाइनल निर्धारित 50 ओवर के बाद टाई रहा था. इसके बाद दोनों टीमों के बीच सुपर ओवर भी बराबरी पर खत्म हुआ था. इंग्लैंड ने बाउंड्रीज के आधार पर न्यूजीलैंड को मात दे विश्व विजेता बनने का गौरव हासिल किया.

यह भी पढ़ें: अब सब्स्टीट्यूट खिलाड़ी भी कर सकेगा बैटिंग, एशेज सीरीज में लागू हो सकता है नया नियम

बेन स्टोक्स ने न्यूजीलैंड द्वारा दिए गए 241 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड के लिए नाबाद 84 रन की पारी खेली थी. वे इसके बाद सुपर ओवर में भी बल्लेबाजी करने आए थे. बीबीसी ने स्टोक्स के हवाले से लिखा है, ‘मुझे शावर रूम में जाना पड़ा था और अपने आप को पांच मिनट का समय देना पड़ा था. मैं निश्चित तौर पर दोबारा गेंदबाजी नहीं कर सकता था.’

बेन स्टोक्स ने कहा कि वे जीत के पल में मैदान पर रोने लगे थे. उन्होंने कहा, ‘मैं मैदान पर गिर गया था. मैंने मार्क वुड के चश्मे पहने थे. मुझे लगा कि मैंने उन्हें तोड़ दिया है.’ स्टोक्स ने कहा कि वह सुपर ओवर में बल्लेबाजी को लिए नहीं जाना चाहते थे लेकिन कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) के कहने पर उन्होंने ऐसा किया. स्टोक्स ने कहा, ‘मैंने कहा था कि हमें जोस बटलर और जेसन रॉय को भेजना चाहिए लेकिन मोर्गन ने कहा कि हमें दाएं और बाएं का संयोजन बनाना है इसलिए मुझे भेजा गया.’