close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इंग्लैंड की टीम में हैं 2 'रन मशीन', 4 साल से त्राहिमाम हैं दुनियाभर के बॉलर; कैसे निपटेगा दक्षिण अफ्रीका

आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) के पहले मैच में आज (30 मई) मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच मुहूर्त मैच खेला जाएगा. इस मुकाबले पर दुनियाभर के क्रिकेटप्रेमियों की नजर होगी. खासकर इस मैच में दो खिलाड़ियों इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन और जोए रूट की पारी का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. 

इंग्लैंड की टीम में हैं 2 'रन मशीन', 4 साल से त्राहिमाम हैं दुनियाभर के बॉलर; कैसे निपटेगा दक्षिण अफ्रीका
आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019): इंग्लैंड की टीम में जोए रूट और इयोन मोर्गन जबरदस्त फॉर्म में चल रहे हैं. तस्वीर साभार: Joe root और Eoin morgan के फेसबुक पेज

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) के पहले मैच में आज (30 मई) मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच मुहूर्त मैच खेला जाएगा. 'द ओवल' के मैदान दोनों बड़ी टीमें टकराएंगी. इस मुकाबले पर दुनियाभर के क्रिकेटप्रेमियों की नजर होगी. खासकर इस मैच में दो खिलाड़ियों इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन और जोए रूट की पारी का लोग बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. ये दो ऐसे बल्लेबाज हैं, जिनके पिछले चार साल के करियर पर नजर डालें तो ऐसा लगता है कि मानो ये इसी टूर्नामेंट के लिए बल्ले को धार देते आ रहे हैं. इयोन मोर्गन और जोए रूट दो ऐसे बल्लेबाज हैं जो 2015 के विश्व कप के बाद से लगातार शानदार बल्लेबाजी कर रहे हैं.

इयोन मोर्गन (Eoin morgan): क्रिकेट विश्व कप चार साल बाद आता है. यह टूर्नामेंट भले ही 1975 चल रहा है, लेकिन इंग्लैंड इसे कभी भी जीत नहीं पाया है. दिलचस्प बात यह है कि क्रिकेट और इस टूर्नामेंट की शुरुआत इंग्लैंड ने की है. इयोन मोर्गन ने 2015 के विश्व कप के बाद से अब तक 81 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्हें 75 मैचों में बैटिंग का मौका मिला. इसमें उन्होंने 3039 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 5 शतक भी जमाए हैं. मोर्गन के फॉर्म में होने का फायदा इंग्लैंड की टीम को दो तरह से होगा. एक तो मोर्गन के बल्ले से निकलने वाले रन टीम के काम आएगी. साथ ही अगर मोर्गन बतौर कप्तान रन बनाते हैं तो टीम के युवा खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ेगा और वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे.

जोए रूट (Joe root): इंग्लैंड के टीम के मध्यक्रम में एक ऐसा बैट्समैन हैं, जिनके पांव क्रीज पर जम जाए तो कोई भी बॉलिंग अटैक धराशायी हो सकता है. रूट के बैटिंग की सबसे बड़ी ताकत यह है कि वह बड़े शॉट्स के साथ दौड़कर रन बनाने में भी गुरेज नहीं करते हैं. पिछले चार साल में रूट ने 78 मैचों की 74 पारियों में 3498 रन बनाए हैं. इस दौरान इनका औसत 58 से ज्यादा का रहा है. इन्होंने 10 शतक भी जमाए हैं.

बॉलिंग अटैक पर कमजोर है इंग्लैंड
इंग्लैंड की गेंदबाजी उतनी मजबूत नहीं है जितनी उसकी बल्लेबाजी है लेकिन जोफ्रा आर्चर के आने से उसे बल मिला है. उनके अलावा टीम में लियाम प्लंकट, मार्क वुड, क्रिस वोक्स, टॉम कुरैन पर तेज गेंदबाजी की जिम्मा होगा.

टीम : इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जोफ्रा आर्चर, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), जोस बटलर, टॉम कुरैन, लियाम डॉसन, लियाम प्लंकट, आदिल राशिद, जोए रूट, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, जेम्स विंसे, क्रिस वोक्स, मार्क वुड.

लाइव टीवी देखें-: