बांग्लादेश को हराने के बाद कोहली बोले, 'हमें जीत के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी लेकिन...'

भारत ने मंगलवार को बांग्लादेश को रोमांचक मुकाबले में 28 रनों से हराकर आईसीसी विश्व कप-2019 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

बांग्लादेश को हराने के बाद कोहली बोले, 'हमें जीत के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी लेकिन...'
भारत अंकतालिका में दूसरे स्थान पर ही बरकरार है.

बर्मिघम: भारत ने मंगलवार को बांग्लादेश को रोमांचक मुकाबले में 28 रनों से हराकर आईसीसी विश्व कप-2019 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है. 315 रनों के लक्ष्य के सामने बांग्लादेश ने काफी संघर्ष किया, लेकिन 48 ओवरों में सभी विकेट खोकर 286 रन ही बना सकी. इस जीत के बाद भारत के आठ मैचों में छह जीत, एक हार और एक रद्द मैच के बाद 13 अंक हो गए हैं. वह अंकतालिका में दूसरे स्थान पर ही बरकरार है. बांग्लादेश सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गया है. हालांकि उसका एक मुकाबला पाकिस्तान से होगा. उधर, अहम मुकाबले में मिली जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान काफी खुश नजर आए. 

कोहली ने मैच पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, "मेरे ख्याल से बांग्लादेश ने अच्छी क्रिकेट का मुजाहिरा किया है. निश्चित रूप से उन्हें क्रेडिट मिलनी चाहिए. यहां तक कि अंतिम विकेट गिरने तक मैं उन्हें गेम में मान रहा था. हमें इस जीत के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी लेकिन खुशी है कि हम सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं." 

श्रीलंका के खिलाफ होने वाले मैच पर कोहली ने कहा, "अगला मैच इसी तरह का प्रदर्शन दोहराने का एक अवसर है. सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद हमारा रुख यही रहेगा और जैसा कि मैंने कहा कि सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद हम बहुत खुश हैं."

ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या की तारीफ में कोहली ने कहा, "हमने देखा है कि जब वह दबाव में होते हैं, तब रन बनाने और विकेट लेने के नए तरीके खोजते हैं. जब वह गेंदबाजी के लिए आता है तो एक बल्लेबाज के तौर पर सोचता है. वह निश्चित रूप से शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं.'

भारत के लिए इस मैच में 104 रनों की पारी खेली और मैन ऑफ द मैच चुने गए. रोहित के बारे में कप्तान ने कहा, "मैं उन्हें काफी लंबे समय से देख रहा हूं और इसलिए कह सकता हूं कि वह वनडे में सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं. जब वह इस तरह से खेलते हैं तो सभी को बहुत खुशी होती है."

चार विकेट लेने वाले बुमराह पर कोहली ने कहा, "उनके ओवर हमारे लिए हमेशा से अहम रहे हैं इसलिए हम उन्हें हमेशा चार ओवरों के बाद रोक लेते हैं. वह विश्व स्तर के गेंदबाज हैं और जानते हैं कि कब क्या करना है. जिस तरह से टीम ने प्रदर्शन किया है, उससे मैं बहुत खुश हूं."